Not disturbed with perception, happening for a decade now Ravichandran Ashwin on pitch versus skill debate

    -विनय कुमार 

    भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जाने वाली 5 मैचों की टेस्ट सीरीज (England vs India Test Series in England 2021) से पहले टीम इंडिया के धुरंधर स्पिनर रविंचद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin off-spinner Team India) ने ‘काउंटी चैम्पियनशिप’ (County Cricket England) में ‘सरे’ (Surrey Cricket Club) की तरफ से एक मैच खेला। ‘समरसेट’ (Somerset County Cricket Club) के खिलाफ इस मैच में अश्विन ने अपनी घातक बलखाती गेंदबाजी से धमाल मचा दिया। 

    इंग्लैंड के खिलाफ भारत से होने वाली टेस्ट सीरीज से पहले यह मैच अश्विन के लिए मेज़बान मैदानों और आबो-हवा को समझने और अपनी गेंदबाजी में निखार लाने के लिए काफी फायदेमंद साबित हुए। ओवल के मैदान (Oval England) पर खेले गए इस मैच में आर. अश्विन की शुरुआत हालांकि अच्छी नहीं रही, लेकिन कुछ देर बाद उन्होंने जबरदस्त वापसी की और दूसरी पारी में सिर्फ 27 रन देकर 6 विकेट उड़ा दिए।

    ‘समरसेट’ (Somerset County Cricket Club) की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए कप्तान हिल्ड्रेथ (107) के शतक (Century) और डेविस (42), टॉम लैमॉनबी (42), वैनडर मर्वी (41), बेन ग्रीन (43) और गोल्डस्वर्थी (48) की बेहतरीन पारियों के कारण 429 रनों का विराट स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में ‘सरे’ की टीम 240 रन ही बना सकी। ‘सरे’ की टीम ने पहली पारी में गेंदबाजी करते हुए आर. अश्विन को नई गेंद थमाई, लेकिन अश्विन का जादू कुछ खास नहीं चल पाया था और उनकी झोली में सिर्फ एक ही विकेट ही आया। बल्लेबाजी में भी अश्विन पहली पारी में खाता भी नहीं खोल पाए।

    लेकिन, मैच की दूसरी पारी में रविचंद्रन अश्विन (Ravichanran Ashwin) ने शानदार वापसी करते हुए ‘समरसेट’ के बल्लेबाजों को अपनी बलखाती स्पिन गेंदबाजी का शिकार बनाना शुरू किया तो बस अभी ताश के पत्तों की तरह बिखर गए। पहली पारी में 180 रनों की विशाल बढ़त लेने के बाद ‘समरसेट’ (Somerset County Cricket Club) की टीम दूसरी पारी में अश्विन की घातक गेंदबाजी के कारण सिर्फ 69 रन पर सिमट गई। रविचंद्रन अश्विन ने 5 विकेट हॉल (Five Wickets Hall) लेते हुए 14 ओवर की गेंदबाजी की और 27 रन देकर 6 विकेट चटकाए। डैनियल मोरियर्टी ने भी 4 विकेट झटके।

    रविचंद्रन अश्विन ने मैच की दूसरी पारी में गेंदबाजी की पारी की शुरुआत की और ‘समरसेट’ टीम के स्टीवन डेविस (7), टॉम लैमॉन्बी (3), जेम्स हिल्ड्रेथ (14), जॉर्ज बार्टलेट (12) और रॉलेफ वैनडर मर्वी (7) को चलाता किया। गौरतलब है कि, रविचंद्रन अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट के इतिहास के पहले वर्ल्ड कप ‘ ICC World Test Championship 2019-21’  के फाइनल मैच में भी अपनी गेंदबाजी का जलवा दिखाया था। हालांकि, इस मैच में भारतीय टीम की बल्लेबाज़ी फुस्स होने के कारण भारत की टीम हार गई। लेकिन, इस मैच की दूसरी पारी में सिर्फ रविचंद्रन अश्विन ही न्यूजीलैंड के 2 विकेट निकाल पाने में सफल रहे थे। जिसकी बदौलत ‘आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैम्पिनयशिप 2019-21’ में सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज बने।

    गौरतलब है कि, इंग्लैंड के खिलाफ 5 मैचों की टेस्ट सीरीज (India vs England Test Series in England 2021) में खेलने के लिए कल (15 जुलाई) डरहम में टीम इंडिया  20 दिन के ब्रेक के बाद आएगी, जहां सभी खिलाड़ी एक बार फिर से क्वारंटीन में रहकर प्रैक्टिस करेंगे। खबरों के मुताबिक, टीम इंडिया को इस दौरान 21 जुलाई से 23 जुलाई के बीच ‘काउंटी 11’ की टीम के साथ एक प्रैक्टिस मैच खेलने का अवसर भी मिल सकता है।