who forced VVS Laxman to learn Hindi, the elders had to bow down in front of Hindi

    नयी दिल्ली: भारत के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण का मानना है कि कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल को श्रीलंका के खिलाफ आगामी एकदिवसीय श्रृंखला में अंतिम 11 में शामिल किया जाना चाहिए क्योंकि तीन मैचों में गेंदबाजी करने से इस स्पिन जोड़ी को आत्मविश्वास हासिल करने में मदद मिलेगी। पिछले विश्व कप (2019 में एकदिवसीय) से पहले कलाई के ये दोनों स्पिनर भारतीय गेंदबाजी का महत्वपूर्ण हिस्सा थे लेकिन विश्व कप के बाद से दोनों के प्रदर्शन में गिरावट देखी गयी है। 

    लक्ष्मण ने ‘स्टार स्पोर्ट्स’ के कार्यक्रम ‘गेम प्लान’ से कहा, ‘‘ भारतीय दल में छह स्पिनर है लेकिन मैं उन्हें तीनों एकदिवसीय मैचों में खेलते हुए देखना चाहता हूं। एकदिवसीय में हर गेंदबाज को 10 ओवर गेंदबाजी का मौका मिलता है।” उन्होंने कहा, ‘‘ इसलिए वे जितने अधिक ओवर फेंकेंगे, उन्हें उतनी ही अधिक सफलता मिलेगी, उनका आत्मविश्वास वापस आयेगा खासकर कुलदीप यादव का।” 

    इस पूर्व कलात्मक बल्लेबाज ने कहा, ‘‘ चहल एक सफल और अनुभवी गेंदबाज है, वह टी20 विश्व कप को ध्यान में रखते हुए आत्मविश्वास से भरपूर होगा और टीम का एक बहुत ही महत्वपूर्ण सदस्य है। मुझे लगता है कि कुलदीप को अपना आत्मविश्वास हासिल करने की जरूरत है।” भारत के लिए 134 टेस्ट और 86 एकदिवसीय खेलने वाले लक्ष्मण ने सूर्यकुमार यादव की तारीफ करते हुए कहा कि 30 साल के दायें हाथ के इस बल्लेबाज के पास टी20 विश्व कप की टीम में जगह बनाने की क्षमता है। 

    उन्होंने कहा, ‘‘ सूर्यकुमार यादव को तीसरे क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए देखकर मैं उत्साहित था। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उसने जोफ्रा आर्चर जैसे गेंदबाज के खिलाफ जिस तरह से अपना पहला शॉट खेला और रन बनाया, वह उसके आत्मविश्वास, प्रतिभा और कौशल को दर्शाता है। उसके लिए यह (श्रीलंका दौरे पर) एक शानदार अवसर है।” 

    उन्होंने कहा, ‘‘ मैं चाहता हूं कि वह सभी छह मैच (तीन एकदिवसीय और तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय) खेले, क्योंकि वह ऐसा खिलाड़ी है जो निश्चित रूप से टी20 विश्व कप टीम में शामिल हो सकता है। मैं चाहता हूं कि वह आगे बढ़े और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी रन बनाने का विश्वास हासिल करे।” भारतीय टीम 13 जुलाई से श्रीलंका दौरे पर तीन मैचों की एकदिवसीय और इतने ही टी20 मुकाबले खेलेगी। (एजेंसी)