shikhar dhawan
File Photo

    मुंबई: कड़े पृथकवास के बीच अपनी फिटनेस पर मेहनत कर रही भारतीय क्रिकेट की ‘युवा ब्रिगेड’ 13 जुलाई से शुरू हो रहे श्रीलंका दौरे पर अच्छे प्रदर्शन को बेताब हैं और पहली बार देश के लिये खेल रहे इन युवा खिलाड़ियों ने इसे सपना सच होने जैसा बताया है।    

    शिखर धवन की कप्तानी में भारतीय खिलाड़ियों ने 14 जून से पृथकवास शुरू किया जो 28 जून तक जारी रहेगा। बायें हाथ के तेज गेंदबाज चेतन सकारिया ने बीसीसीआई टीवी से कहा ,‘‘ अब हर किसी को पृथकवास की आदत पड़ गई है । पृथकवास से बाहर निकलकर दूसरे खिलाड़ियों से मिलना और व्यायाम करना अच्छा लग रहा है। मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं ।”

     

    पहली बार भारतीय टीम में शामिल सौराष्ट्र के इस खिलाड़ी ने कहा ,‘‘ जब मैं कमरे से बाहर निकला तो लगातार खुद को देखता रहा । जर्सी पहनकर अच्छा लगा । जिम में आने के बाद मैने आम दिनों की तरह वर्कआउट किया । ” दिल्ली के शीर्षक्रम के बल्लेबाज नीतिश राणा ने कहा , ‘‘ पहले सात दिन मेरे लिये मुश्किल थे और मैं अपने साथी खिलाड़ियों से मिलने का इंतजार कर रहा था । जर्सी पहनने का इंतजार था। हर घंटा एक साल की तरह लग रहा था ।”  

    राणा ने कहा ,‘‘ यहां माहौल अच्छा है और श्रृंखला को लेकर हम काफी रोमांचित हैं। नये ट्रेनर के साथ मैने बहुत कुछ सीखा।” राणा और सकारिया की ही तरह पहली बार भारतीय टीम में शामिल कर्नाटक के देवदत्त पडिक्कल और कृष्णप्पा गौतम ने भी यही बात कही।  

    पडिक्कल ने कहा ,‘‘ पृथकवास में भी हम कमरे में यथासंभव अभ्यास कर रहे थे। जिम में अभ्यास की बात ही अलग है और अब बहुत अच्छा लग रहा है।” गौतम ने कहा ,‘‘ हम कर्नाटक के लिये खेलते हैं तो एक दूसरे की ताकत और कमजोरियों का पता है। पडिक्कल के साथ फिर अभ्यास करना अच्छा रहा। लेकिन मुझे लगता है कि उसे अपना वजन बढाना होगा।”  

    महाराष्ट्र के रितुराज गायकवाड़ ने टीम में चुने जाने को सपना सच होने जैसा बताया । उन्होंने कहा ,‘‘ हम इतने साल से इसका इंतजार कर रहे थे। इसके लिये कड़ी मेहनत कर रहे थे और सपना पूरा होने पर अच्छा लगता है।” भारतीय टीम श्रीलंका में तीन वनडे और तीन टी20 मैच खेलेगी। (एजेंसी)