नहीं चले भारतीय बल्लेबाज, ब्यूमोंट और साइवर ने दिलायी इंग्लैंड को आसान जीत

    ब्रिस्टल: सलामी बल्लेबाज टैमी ब्यूमोंट और आलराउंडर नताली साइवर के बीच अटूट शतकीय साझेदारी की मदद से इंग्लैंड ने पहले महिला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में रविवार को यहां भारत को 91 गेंद शेष रहते हुए आठ विकेट से हराकर तीन मैचों की श्रृंखला में 1-0 से बढ़त बनायी। 

    भारतीय टीम को धीमी और ढीली बल्लेबाजी का खामियाजा भुगतना पड़ा। भारत टॉस गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए कप्तान मिताली राज के 108 गेंदों में बनाये गये 72 रन के बावजूद निर्धारित 50 ओवरों में आठ विकेट पर 201 रन तक ही पहुंच पाया। इंग्लैंड के सामने बड़ा लक्ष्य नहीं था और उसने 34.5 ओवरों में दो विकेट पर 202 रन बनाकर मैच को एकतरफा बना दिया।

    ब्यूमोंट (87 गेंदों पर 87 रन) और साइवर (74 गेंदों पर 74 रन) इंग्लैंड की इस आसान जीत की नायिका रही। इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिये 119 रन की अटूट साझेदारी की। ब्यूमोंट ने अपनी पारी में 12 चौके और एक छक्का जबकि साइवर ने 10 चौके और एक छक्का लगाया। ब्यूमोंट ने लगातार चौथा और कुल 13वां जबकि साइवर ने 15वां अर्धशतक बनाया। 

    इंग्लैंड के गेंदबाजों ने पहले कसी हुई गेंदबाजी करके भारतीयों को खुलकर नहीं खेलने दिया जबकि बाद में उसकी बल्लेबाजों ने सहजता से रन बटोरे। लॉरेन विनफील्ड हिल (16) को झूलन गोस्वामी ने पांचवें ओवर में विकेटकीपर तानिया भाटिया के हाथों कैच करा दिया था लेकिन ब्यूमोंट ने टीम पर इसका दबाव नहीं बनने दिया। 

    ब्यूमोंट ने कप्तान हीथर नाइट (18) के साथ दूसरे विकेट के लिये 59 रन जोड़े जिसमें 41 रन का योगदान उनका था। अनुभवी एकता बिष्ट ने नाइट को बोल्ड करके यह साझेदारी तोड़ी।  नाइट की जगह उतरी साइवर ने केवल ब्यूमोंट की सहयोगी की भूमिका नहीं निभायी और अपनी साथी से भी अधिक तेजी से रन बनाये। उन्होंने हरमनप्रीत कौर पर मैच का पहला छक्का। बाद में ब्यूमोंट ने भी हरमनप्रीत पर छक्का जड़कर स्कोर बराबर किया। 

    इससे पहले भारतीय पारी मिताली के इर्द गिर्द घूमती रही जिन्होंने अपनी पारी में सात चौके लगाये। उन्होंने पूनम राउत (61 गेंदों पर 32 रन) के साथ तीसरे विकेट के लिये 94 गेंदों पर 56 और दीप्ति शर्मा (46 गेंदों पर 30) के साथ पांचवें विकेट के लिये 85 गेंदों पर 65 रन की अर्धशतकीय साझेदारियां की। इंग्लैंड की तरफ से बायें हाथ की स्पिनर सोफी एक्लेस्टोन ने 40 रन देकर तीन विकेट लिये जिनमें हरमनप्रीत और मिताली के कीमती विकेट भी शामिल हैं। तेज गेंदबाज कैथरीन ब्रंट और अन्या श्रबसोले ने दो-दो विकेट हासिल किये। 

    भारतीय टीम को अपना पहला वनडे खेलने वाली शेफाली वर्मा (14 गेंदों पर 15 रन) और स्मृति मंधाना (25 गेंदों पर 10 रन) अपेक्षित शुरुआत नहीं दिला पायी। क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में सबसे कम उम्र में पदार्पण का रिकार्ड बनाने वाली शेफाली ने शुरू से अपने शॉट खेलने शुरू किये। उन्होंने कैथरीन पर लगातार दो चौके जमाये लेकिन इस तेज गेंदबाज ने शार्ट पिच गेंदों से उनकी परीक्षा ली। शेफाली ने ऐसी की एक गेंद पर आसान कैच दिया। मंधाना श्रबसोले की गेंद पर लेट कट करने के प्रयास में बोल्ड हुई। 

    मिताली ने शुरू में बेहद धीमी बल्लेबाजी की और इस बीच पूनम भी तेजी नहीं दिखा पायी। भारतीय टीम 16 ओवर में 50 रन तक पहुंची। इसके बाद पूनम और हरमनप्रीत (एक) दोनों के एक रन अंदर के पवेलियन लौटने से टीम पर दबाव बढ़ा। मिताली ने हालांकि विकेट बचाये रखकर दीप्ति के साथ मिलकर स्ट्राइक रोटेट की। 

    भारत का स्कोर 40 ओवर के बाद चार विकेट पर 134 रन था। इसके बाद इन दोनों ने अपने इरादे दिखाये लेकिन दीप्ति को श्रबसोले ने पगबाधा आउट कर दिया। मिताली ने इससे पहले इसी ओवर में मिडविकेट पर चौका लगाकर अपना अर्धशतक पूरा किया था। मिताली आखिर तक क्रीज पर नहीं रही जिसका भारतीय स्कोर पर असर पड़ा।

    उन्होंने श्रबसोले के अगले ओवर में लगातार दो चौके लगाये लेकिन एक्लेस्टोन की आर्म बॉल का सही अनुमान नहीं लगा पायी और बोल्ड हो गयी। इसके बाद भारत अंतिम 27 गेंदों पर 21 रन ही जोड़ पाया। निचले क्रम में पूजा वस्त्राकर (15) ही कुछ योगदान दे पायी। इन दोनों टीमों के बीच दूसरा वनडे 30 जून को टांटन में खेला जाएगा। (एजेंसी)