david-warner-kxip-vs-srh-ipl-2020-sunrisers-hyderabad

    नयी दिल्ली: सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के मुख्य कोच ट्रेवर बेलिस (Trevor Bayliss) ने रविवार को कहा कि डेविड वॉर्नर (David Warner) को अंतिम 11 (Playing 11) से बाहर करना एक ‘मुश्किल फैसला’ था लेकिन इंडियन प्रीमियर लीग के मौजूदा सत्र में टीम के खराब प्रदर्शन के कारण प्रबंधन को एक अलग संयोजन आजमाने के लिए मजबूर होना पड़ा। वार्नर को टीम के कप्तानी से हटाने के एक दिन बाद उन्हें अंतिम एकादश से भी बाहर कर दिया गया। 

    वार्नर बल्ले से अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे और उनके नेतृत्व में टीम ने छह मैचों में सिर्फ एक जीत दर्ज करने में सफल रही। उनकी जगह केन विलियमसन को कप्तान बनाया लेकिन इससे भी टीम की किस्मत नहीं बदली और रविवार को उन्हें राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 55 रन से हार का सामना करना पड़ा। बेलिस ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ यह काफी मुश्किल (वार्नर को अंतिम एकादश से बाहर रखना) था। वह ऐसा खिलाड़ी है जिसने टीम के लिए कई सफलता हासिल की है लेकिन हम दूसरे संयोजन को आजमाना चाहते थे।” 

    उन्होंने कहा, ‘‘टीम से बाहर किये जाने वाले किसी अन्य खिलाड़ी की तरह वार्नर भी निराश थे। अगर आप ने देखा होगा तो वार्नर 12वें खिलाड़ी के तौर पर टीम के लिए जो कर सकते थे , वह कर रहे थे। वह अच्छी स्थिति में है केन (विलियमसन) और दूसरे खिलाड़ियों से बात कर उन्हें सलाह दे रहे थे।” इस विश्व कप विजेता कोच ने कहा कि वार्नर के ‘स्तर’ के बल्लेबाज के बिना टीम के लिए स्थितियां चुनौतीपूर्ण होगी। 

    उन्होंने कहा, ‘‘ खिलाड़ी के तौर पर वार्नर के बिना खेलना काफी चुनौतीपूर्ण होगा। उन्हें (वार्नर) हालांकि नहीं लगता कि टीम को विलियमसन की कप्तानी में कोई परेशानी होगी , जो पहले भी टीम का नेतृत्व कर चुके है। वह न्यूजीलैंड के कप्तान है और अनुभवी है। हम आज अच्छा नहीं खेले और एक खिलाड़ी ने बहुत शानदार (जोस बटलर) खेल दिखाया।” इस मैच में अपने टी20 करियर का पहला शतक लगाने वाले बटलर (124) ने कहा कि वह इस प्रदर्शन से खुश है। 

    उन्होंने कहा, ‘‘ टी20 में मेरा पहला शतक और मैं इससे काफी खुश हूं। क्रीज पर समय बिताना अच्छा था और इससे मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दे सका।” उन्होंने कहा कि गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया जिससे उनकी टीम 220 रन के लक्ष्य का आसानी से बचाव करने में सफल रही। उन्होंने कहा, ‘‘ आज टीम में कार्तिक त्यागी का होना अच्छा रहा। मुझे लगता है कि वह शानदार गेंदबाज है। वह अच्छी गति से गेंदबाजी कर रहा था । 

    उसने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारतीय टीम के साथ काफी समय बिताया है और मुझे लगता है कि उसने उस दौरे पर काफी कुछ सीखा है। मुस्ताफिजूर रहमान ने भी कमाल की गेंदबाजी की। ”(एजेंसी)