Many tough challenges in organizing Olympics next year too

    टोक्यो: ओलंपिक खेल गांव में रह रहे दो खिलाड़ियों सहित कुल तीन खिलाड़ियों को कोविड-19 के लिये पॉजिटिव पाया गया है। तोक्यो ओलंपिक आयोजन समिति ने रविवार को यह जानकारी दी। इससे 23 जुलाई से शुरू होने वाले खेलों के सफल आयोजन को लेकर आशंका बन गयी है। यह पहला अवसर है जबकि खेल गांव में रह रहे खिलाड़ियों को संक्रमण हुआ है। आयोजकों ने खिलाड़ियों की पहचान उजागर नहीं की है। तीसरा खिलाड़ी खेलों के लिये नामित होटल में ठहरा हुआ है। आयोजन समिति ने यहां कोविड-19 के पॉजिटिव मामलों की जो सूची जारी की है उसके अनुसार दिन में कुल 10 मामले सामने आये। इनमें खेलों से संबंधित पांच व्यक्ति, एक ठेकेदार और एक पत्रकार भी शामिल है। समिति के रिकार्ड के अनुसार खेलों से जुड़े कोविड मामलों की संख्या अब 55 पर पहुंच गयी है। 

    अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के खेलों के मुख्य कार्यकारी निदेशक क्रिस्टोफ डुबी ने कहा, ‘‘जब भी कोविड-19 को कोई मामला आता है तो उसका मतलब होता है कार्रवाई। करीबी संपर्कों की पहचान करने के लिये स्पष्ट प्रक्रिया है। एक मामला केवल आंकड़ा नहीं है बल्कि उसके साथ ही कार्रवाई शुरू हो जाती है जिसमें तुरंत ही परीक्षण करवाना भी शामिल है।” उन्होंने कहा, ‘‘खेलों के लिये 18000 प्रतिभागियों के जापान आने से पहले कोविड-19 के 40,000 परीक्षण किये गये। इसके अलावा हवाई अड्डे पर जांच हो रही है। नियमित तौर पर जांच और हर दिन परीक्षण किया जा रहा है।” आयोजकों ने यह नहीं बताया है कि दोनों संक्रमित खिलाड़ियों को खेल गांव में ही रखा गया है या उन्हें किसी अन्य स्थान पर पृथकवास पर भेजा गया है। 

    आईओसी के खेल संचालन निदेशक पियरे डुक्रे ने कहा, ‘‘एक जुलाई से विदेशों से 18000 से अधिक प्रतिभागी यहां पहुंच चुके हैं। इन सभी के पास आगमन से पहले दो नेगेटिव परीक्षण थे। आगमन पर उनका फिर से परीक्षण किया गया। ” खेल गांव में एक दिन पहले ही एक व्यक्ति का परीक्षण पॉजिटिव पाया गया था। यह खिलाड़ी नहीं था। इस व्यक्ति को खेल गांव से बाहर पृथकवास पर रखा गया है। तोक्यो 2020 के मुख्य वितरण अधिकारी हिदे नकामुरा ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हम समझते हैं कि स्थिति नियंत्रण में है। यदि कोई मामला पाया जाता है तो उस व्यक्ति को अलग थलग कर दिया जाता है और सभी करीबी संपर्कों का पता लगाया जाता है जिससे यह ज्ञात हो सके कि कोई अन्य मामला तो नहीं है। यही सबसे महत्वपूर्ण है।” 

    उन्होंने कहा, ‘‘तमाम उपायों के बावजूद कुछ पॉजिटिव मामले होंगे। पूरी दुनिया को अपनी गिरफ्त में लेने वाली कोरोना वायरस की वर्तमान स्थिति में यह अपरिहार्य है कि कुछ मामले सामने आएंगे।” नकामुरा ने कहा, ‘‘सबसे अहम यह है कि जब ऐसे मामले सामने आते हैं तो हम उन्हें अच्छे और व्यवस्थित तरीके से अलग थलग कर देते हैं ताकि संक्रमण नहीं फैले। ” इस बीच भारतीय खिलाड़ियों का पहला जत्था भारत से शनिवार को रवाना हुआ और आज सुबह तोक्यो पहुंचा। भारत के 90 सदस्यीय दल में तीरंदाज, महिला और पुरुष हॉकी टीम, टेबल टेनिस खिलाड़ी और तैराक भी शामिल हैं। निशानेबाज और मुक्केबाज भी क्रोएशिया और इटली में अपने अभ्यास स्थलों से तोक्यो पहुंच चुके हैं। ओलंपिक खेल 23 जुलाई से शुरू होंगे लेकिन इन्हें खाली स्टेडियमों में ही आयोजित किया जाएगा क्योंकि जापान की राजधानी में लगातार वायरस के मामले बढ़ रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में यहां प्रतिदिन 1000 से अधिक मामले दर्ज किये जा रहे हैं। (एजेंसी)