मोहम्मद शमी (Photo Credits-ICC Twitter)
मोहम्मद शमी (Photo Credits-ICC Twitter)

    -विनय कुमार 

    टीम इंडिया के घातक तेज़ गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने इंग्लैंड के साउथैंपटन के मैदान में खेले जा रहे ‘आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप’ के फाइनल (ICC World Test Championship Final 2021) में न्यूजीलैंड के 4 विकेट उड़ा कर एक नया  रिकॉर्ड रच दिया। मोहम्मद शमी टेस्ट क्रिकेट के इतिहास के पहले वर्ल्ड कप ‘आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप’ के फाइनल मैच में भारत की तरफ से ‘4 विकेट हॉल’ (Four Wickets Hall) करने वाले पहले गेंदबाज बन गए। 

    करीब 144 साल का टेस्ट क्रिकेट का इतिहास बताता है कि इससे पहले ICC के किसी फाइनल मैच में बेस्ट परफॉर्मेंस का कीर्तिमान टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी मोहिंदर अमरनाथ (Mohinder Amarnath) के नाम था। ‘1983 ODI वर्ल्ड कप फाइनल’ (ICC ODI World Cup 1983) में मोहिंदर अमरनाथ ने 12 रन देकर 3 विकेट चटकाए थे। एक लंबे अंतराल के बाद भारतीय टीम के पूर्व तेज़ गेंदबाज इरफान पठान (Irfan Pathan) ने महेन्द सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में ‘2007 T20 World Cup’ के फाइनल में 16 रन देकर 3 विकेट हासिल किया था।

    इरफ़ान पठान के अलावा इस मैच तेज़ गेंदबाज आर पी सिंह (RP Singh) ने भी 26 रन देकर 3 विकेट हासिल किए थे।  भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व तेज़ गेंदबाज वेंकेटेश प्रसाद (Venkatesh Prasad) ने एक से करीब 21 साल पहले साल 2000 में खेले गए सीICC Knockout Trophy’ के  फाइनल में 27 रन देकर 3 विकेट लिए थे। 2002 चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल (Champions Trophy 2002) में हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने 27 रन देकर 3 विकेट चटकाए थे। टीम इंडिया ने पहली बात आईसीसी वर्ल्ड कप 1983 में जीता था और उस टीम के कप्तान थे कपिल देव (Kapil Dev Captain 1983 WC)। कपिल देव की कप्तानी वाली उस ऐतिहासिक टीम के गेंदबाज मदनलाल (Madanlal) ने 1983 वर्ल्ड कप के फाइनल मार्च में 31 रन देकर 3 विकेट झटके थे। आईसीसी वर्ल्ड कप की बात की जाए तो 2011 के ऐतिहासिक फाइनल मैच में ‘कैप्टेन कूल’ महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की कप्तानी वाली टीम के घातक भारतीय तेज गेंदबाज जहीर खान (Zaheer Khan) ने श्रीलंका (India vs Sri Lanka ICC ODI World Cup 2011) के 3 विकेट हासिल किए थे। 

    ‘आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप’ के फाइनल (World Test Championship Final 2021) में मोहम्मद शमी ने न्यूजीलैंड के रॉस टेलर (Ross Taylor), वॉटलिंग (Watling), काइन जेमिसन (Kyle Jamieson) और कॉलिन डी ग्रैंडहोम (Colin de Grandhomme) को आउट कर ‘four wickets hall’ का कीर्तिमान रच दिया।

    गौरतलब है कि न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन (Ken Williamson Captain New Zealand WTC Final)  ने शानदार बल्लेबाजी की और क्रीज पर अपनी सधी हुई बल्लेबाजी की बदौलत टिके रहे और भारत के सामने बड़ी बाधा बन गए। लेकिन, 177 गेंद खेलने के बाद 49 रन के स्कोर पर भारतीय तेज़ गेंदबाज इशांत शर्मा (Ishant Sharma) का शिकार बन गए। न्यूजीलैंड की टीम की अपनी पहली पारी की बल्लेबाजी में 32 रनों की बढ़त के साथ 249 रन पर ऑल आउट हो गई।  

    भारत की तरफ से इशांत शर्मा (Ishant Sharma) ने 3 और शमी ने 76 रन देकर न्यूजीलैंड में 4 विकेट उखाड़ दिए और केन विलियम्सन का किला ढहा दिया। भारत के बेहतरीन स्पिनर्स रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin off-spinner Team India) को 2 और रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) को 1 विकेट हासिल हुआ।

    इस ऐतिहासिक मैच की पहली पारी में भारत ने 217 रन बनाए थे। जिसमें टीम के वाइस कैप्टेन अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane Vice Captain) ने 49 और कप्तान विराट कोहली ने ने 44 रनों की शानदार पारी खेली। फिलहाल भारत अपनी दूसरी पारी की बल्लेबाज़ी कर रही है। भारत के 2 विकेट गिर चुके हैं। भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने 81 गेंदों का सामना करते हुए 30 रन बनाए और टिम साउदी (Tim Southee) की गेंद का शिकार हो गए। शुबमन गिल 33 गेंदों में 8 रन बनाए और रोहित शर्मा से पहले साउदी के पहले शिकार बने। फिलहाल, कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) 8 और चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) 12 रनों के साथ पांचवें दिन के खेल खत्म होने तक क्रीज पर मौजूद रहे और रिज़र्व डे (reserve day WTC Final) के दिन एक बार फिर ये दोनों धुरंधर मैदान पर उतरेंगे।