पुरुष टीम के सेमीफाइनल में पहुंचने पर ओडिशा के मुख्यमंत्री समेत कई लोगों का फिर उमड़ा हॉकी के प्रति प्यार

    टोक्यो: भारतीय पुरुष हॉकी टीम के 49 वर्ष बाद ओलंपिक खेलों के सेमीफाइनल में जगह बनाने के बाद भारतीयों का इस खेल के प्रति सोया प्यार फिर से जाग उठा जिसकी बानगी सोशल मीडिया पर स्पष्ट दृष्टिगोचर हो रही थी।

    भारत ने रविवार को यहां क्वार्टर फाइनल में ग्रेट ब्रिटेन को 3-1 से हराकर 1980 के बाद पहले ओलंपिक पदक की उम्मीद जगा दी। पूर्व हॉकी खिलाड़ियों से लेकिर क्रिकेटरों और राजनीतिज्ञों तक ने सोशल मीडिया पर अपनी खुशी व्यक्त की।

    ओडिसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने लिखा, ‘‘बेहतरीन खेल दिखाया। भारतीय हॉकी टीम को क्वार्टर फाइनल में ग्रेट ब्रिटेन पर शानदार जीत के लिये बधाई।”  खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने लिखा, ‘‘भारत ने सेमीफाइनल में जगह बनायी। पुरुष हॉकी टीम का बेहतरीन प्रदर्शन।’

    पूर्व भारतीय कप्तान वीरेन रासकुइन्हा ने कहा, ‘‘मास्को ओलंपिक 1980 में स्वर्ण पदक जीतने के बाद भारतीय हॉकी के लिये सबसे महत्वपूर्ण पल। मुझे टीम पर गर्व है। बधाई। मेरी आंखों में खुशी के आंसू हैं। ”

    भारत सेमीफाइनल में बेल्जियम से भिड़ेगा।ओलंपिक में भारत के एकमात्र व्यक्तिगत स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा और 2012 के कांस्य पदक विजेता गगन नारंग ने भी मनप्रीत सिंह की अगुवाई वाली टीम को बधाई दी। 

    बिंद्रा ने पी वी सिंधू के बैडमिंटन में कांस्य पदक जीतने का संदर्भ देते हुए लिखा, ‘‘क्या शानदार शाम रही। बेहतरीन प्रदर्शन किया भारतीय हॉकी टीम ने। अब बस दो मैच और जीतने हैं। ” क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट किया, ‘‘चक दे इंडिया। भारतीय हॉकी के लिये महत्वपूर्ण पल। ग्रेट ब्रिटेन पर शानदार जीत। 1972 ओलंपिक के बाद पहला सेमीफाइनल। मजा आ गया। सेमीफाइनल के लिये शुभकामनाएं।”

    भारत में आस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फेरेल ने भारतीय टीम को बधाई दी। उन्होंने उम्मीद जतायी कि फाइनल भारत और आस्ट्रेलिया के बीच होगा। (एजेंसी)