After the defeat from the West Indies, head coach Rahul Dravid said, there is a need to bring depth in the batting

Loading

लॉडरहिल: भारत के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने टी20 श्रृंखला में वेस्टइंडीज (India vs West Indies) से 2-3 की हार के बाद निचले क्रम की बल्लेबाजी को मजबूत करने पर जोर दिया। भारत इस श्रृंखला में अर्शदीप सिंह, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव और मुकेश कुमार के साथ उतरा जिससे उसकी निचले क्रम की बल्लेबाजी कमजोर पड़ गई। ऑलराउंडर अक्षर पटेल सातवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे। श्रृंखला के निर्णायक मैच में भारत डेथ ओवरों में तेजी से रन नहीं बना पाया।

भारतीय टीम ने नौ विकेट पर 165 रन बनाए। वेस्टइंडीज ने दो ओवर शेष रहते हुए जीत हासिल कर दी। द्रविड़ ने मैच के बाद संवाददाताओं से कहा,‘‘ यहां जो टीम हमने उतारी थी, उससे हमें वह छूट नहीं मिली जिससे कि हम टीम संयोजन में बदलाव कर सकें। लेकिन मेरा मानना है कि कुछ क्षेत्र ऐसे हैं जिनमें हम बेहतर कर सकते हैं।”

उन्होंने कहा,‘‘ बल्लेबाजी में गहराई लाना ऐसा ही एक क्षेत्र है जिस पर हम काम करने की कोशिश कर रहे हैं। हम अपनी तरफ से हर संभव सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहे हैं लेकिन निश्चित तौर पर यह एक ऐसा क्षेत्र है जिस पर हम गौर कर सकते हैं। हम अपनी गेंदबाजी को कमजोर नहीं कर सकते हैं लेकिन हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हमारी बल्लेबाजी में कुछ गहराई रहे।”

इसके विपरीत वेस्टइंडीज की टीम में ऑलराउंडर की भरमार है तथा अलजारी जोसेफ 11वें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतर रहे थे। द्रविड़ ने कहा,‘‘ इस प्रारूप में स्कोर लगातार बड़े होते जा रहे हैं। अगर आप वेस्टइंडीज को देखो तो अलजारी जोसेफ11वें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरते हैं और वह लंबे हिट मार सकते हैं। इसलिए ऐसी कई टीमें हैं जिनकी बल्लेबाजी में गहराई है।”

उन्होंने कहा,‘‘ निश्चित तौर पर इस मामले में हमारे सामने कुछ चुनौतियां हैं और हमें इन पर काम करने की जरूरत है। इस श्रृंखला ने निश्चित तौर पर हमें यह दिखाया कि हमें अपने निचले क्रम की बल्लेबाजी को मजबूत करना होगा।”

तिलक वर्मा, यशस्वी जायसवाल और मुकेश कुमार ने इस टी-20 श्रृंखला में पदार्पण किया और द्रविड़ इन तीनों के प्रदर्शन से प्रभावित हैं। द्रविड़ ने कहा,‘‘ मेरा मानना है कि पदार्पण करने वाले तीनों खिलाड़ियों में अपनी जिम्मेदारी अच्छी तरह से निभाई। यशस्वी जायसवाल ने चौथे मैच में शानदार पारी खेली। उसने दिखाया कि जो उसने आईपीएल में किया था उसे वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दोहरा सकता है।”

उन्होंने कहा,‘‘ तिलक वर्मा ने मध्यक्रम में वास्तव में अच्छा प्रदर्शन किया। उसने कुछ अवसरों पर मुश्किल परिस्थितियों में बल्लेबाजी की लेकिन उसने अपने इरादे दिखाए और सकारात्मक बल्लेबाजी की। मुकेश ने इस दौरे में सभी प्रारूपों में पदार्पण किया और मुझे लगता है कि उसने बहुत अच्छी तरह से सामंजस्य बिठाया।”

एशिया कप और विश्वकप से पहले अब एकदिवसीय क्रिकेट पर ध्यान केंद्रित रहेगा और द्रविड़ ने संकेत दिए कि जसप्रीत बुमराह, केएल राहुल और श्रेयस अय्यर सहित चोटिल खिलाड़ियों को एशिया कप में मौका दिया जा सकता है।

उन्होंने कहा,‘‘ हमारे कुछ खिलाड़ी चोट से उबरने के बाद वापसी कर रहे हैं। हमें उन्हें एशिया कप में मौका देना होगा। एशिया कप के लिए 23 अगस्त से बेंगलुरु में हमारा एक सप्ताह का शिविर शुरू होगा। हम वहां इस पर गौर करेंगे।” (एजेंसी)