इंग्लैंड के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया की हार पर पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने दी प्रतिक्रिया, टॉप ऑर्डर बल्लेबाजों को लेकर कही ये बड़ी बात

    दुबई: आस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली को विश्वास है कि आरोन फिंच की अगुवाई वाली टीम इंग्लैंड के हाथों करारी हार से उबरकर टी20 विश्व कप में वापसी करने में सफल रहेगी लेकिन इसके लिये उसके शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को अच्छा प्रदर्शन करना होगा। इंग्लैंड ने पिछले सप्ताह आस्ट्रेलिया के खिलाफ बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए उसकी टीम को 125 रन पर आउट कर दिया था और फिर केवल 11.4 ओवर में लक्ष्य हासिल करके आठ विकेट से जीत दर्ज की थी।

    ली ने आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) की आधिकारिक वेबसाइट पर अपने कॉलम में लिखा, ‘‘इंग्लैंड ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ बेजोड़ प्रदर्शन किया। वनडे में विश्व चैंपियन ने बेहतरीन खेल दिखाया।” उन्होंने कहा, ‘‘आस्ट्रेलिया ने भी कुछ चरणों में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन मैच के अन्य हिस्सों में लचर प्रदर्शन के कारण उसे करारी शिकस्त झेलनी पड़ी।”

    आस्ट्रेलिया के तीन मैचों में चार अंक हैं और उसे अब अपने बचे हुए मैच हर हाल में जीतने होंगे क्योंकि दक्षिण अफ्रीका चार मैचों में छह अंक लेकर उससे आगे है और उसका नेट रन रेट भी बेहतर है। ली ने कहा, ‘‘आस्ट्रेलिया के लिये निराश होने वाली स्थिति नहीं है। मैं चीजों को सकारात्मक दृष्टिकोण से देखने की कोशिश करता हूं। बहुत सारे लोग कह रहे हैं, ‘उसे टीम में नहीं होना चाहिए’, ‘उसे बल्लेबाजी नहीं करनी चाहिए। और ऐसी ही कई बातें।”

    आस्ट्रेलिया के इस दिग्गज ने हिंदी का सहारा लेकर अपनी बात समझाने की कोशिश की।  उन्होंने कहा, ‘‘हिंदी में कहा जाता है, आराम से, आराम से। इसका मतलब है सहज होकर, धैर्यपूर्वक आगे बढ़ना। मुझे लगता है कि यह वास्तव में एक अच्छी अभिव्यक्ति है जिसका उपयोग टीम सहज होकर अपने काम पर ध्यान देने के लिये कर सकती है। सब कुछ ठीक हो जाएगा।” ली को लगता है कि आस्ट्रेलिया के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों डेविड वार्नर, कप्तान फिंच, स्टीव स्मिथ, आलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल और मार्कस स्टोइनिस को अच्छा प्रदर्शन करना होगा।

    उन्होंने कहा, ‘‘शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को अच्छा प्रदर्शन करना होगा। स्टीवन स्मिथ, ग्लेन मैक्सवेल, मार्कस स्टोइनिस जैसे खिलाड़ियों को रन बनाने होंगे। वे पहले दो मैचों में अच्छी फॉर्म में थे, लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ चूक गये और यह खेल का हिस्सा है।” टूर्नामेंट से पहले ली ने कहा था कि भारत को हराना आसान नहीं होगा लेकिन इस पूर्व तेज गेंदबाज ने अब इंग्लैंड और पाकिस्तान को खिताब का प्रबल दावेदार बताया। (एजेंसी)