Pak vs AUS
Photo: ICC

    दुबई. मैथ्यू वेड ने जीवनदान मिलने के बाद शाहीन शाह अफरीदी पर लगातार तीन छक्के जड़े तथा मार्कस स्टोइनिस के साथ 40 गेंदों पर 81 रन की अटूट साझेदारी की जिससे आस्ट्रेलिया ने गुरुवार को यहां कुछ विषम पलों से गुजरने के बाद पाकिस्तान को पांच विकेट से हराकर आईसीसी टी20 विश्व कप के फाइनल में प्रवेश किया जहां उसका सामना न्यूजीलैंड से होगा। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर चार विकेट पर 176 रन का मजबूत स्कोर बनाया। इसके जवाब में आस्ट्रेलिया ने 19 ओवर में पांच विकेट पर 177 रन बनाकर जीत दर्ज की। न्यूजीलैंड ने पहले सेमीफाइनल में इंग्लैंड को पांच विकेट से हराया था।

    पाकिस्तान की तरफ से सलामी बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान ने 52 गेंदों पर 67 रन बनाये जिसमें तीन चौके और चार छक्के शामिल हैं। उन्होंने कप्तान बाबर आजम (34 गेंदों पर 39 रन) के साथ पहले विकेट के लिये 71 और फखर जमां (32 गेंदों पर नाबाद 55, तीन चौके, चार छक्के) के साथ दूसरे विकेट के लिये 72 रन की साझेदारी की। आस्ट्रेलिया ने शुरू में नियमित अंतराल में विकेट गंवाये। डेविड वार्नर (30 गेंदों पर 49 रन, तीन चौके, तीन छक्के) ने रन गति बनाये रखी थी। इसके बाद वेड (17 गेंदों पर नाबाद 41 रन, दो चौके, चार छक्के) और स्टोइनिस (31 गेंदों पर नाबाद 40, दो चौके, दो छक्के) ने अपनी आक्रामकता का खूबसूरत नजारा पेश किया और शादाब खान (26 रन देकर चार विकेट) के प्रयासों पर पानी फेर दिया।

    जब आस्ट्रेलिया को 10 गेंदों पर 21 रन चाहिए थे तब हसन अली ने वेड का कैच टपकाया। उन्होंने इसके बाद अफरीदी के 19वें ओवर की आखिर तीन गेंदों पर शार्ट फाइन लेग, काउ कार्नर और फिर फाइन लेग पर विजयी छक्का लगाया। उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। आस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान के लचर क्षेत्ररक्षण का पूरा फायदा उठाया। इससे पहले अफरीदी ने पहले ओवर में अपनी स्विंग का कमाल दिखाया और आरोन फिंच को चौंका कर पगबाधा आउट किया। वार्नर ने इमाद वसीम पर लगातार छक्का और दो चौके लगाकर रन गति बढ़ायी जबकि मिशेल मार्श (22 गेंदों पर 28 रन) ने हारिस रऊफ का स्वागत छक्के और चौके से किया। इससे आस्ट्रेलिया पावरप्ले में 52 रन बनाने में सफल रहा।

    मार्श ने हालांकि इसके तुरंत बाद लेग स्पिनर शादाब की गेंद पर हवा में लहराता कैच दे दिया। वार्नर ने मोहम्मद हफीज की दो बार टप्पा खाकर आयी गेंद को छह रन के लिये भेजा और फिर शादाब पर छक्का लगाया लेकिन स्टीव स्मिथ (पांच) ने मार्श की तरह गेंद हवा में लहराकर अपना विकेट गंवाया। वार्नर भी अपना अर्धशतक पूरा नहीं कर पाये। शादाब की गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर रिजवान के दस्तानों में समा गयी। रीप्ले से हालांकि पता चला कि गेंद उनके बल्ले से नहीं लगी थी लेकिन वार्नर ने रिव्यू नहीं लिया।

    शादाब ने ग्लैन मैक्सवेल (सात) के रूप में चौथा विकेट लिया जिनका स्विच हिट सीधे क्षेत्ररक्षक के हाथों में चला गया। आस्ट्रेलिया को आखिरी चार ओवर में 50 रन चाहिए थे। स्टोइनिस ने हारिस रऊफ पर और वेड ने हसन अली पर छक्का और चौका लगाकर उम्मीद जगायी। इसके बाद वेड के बल्ले ने कमाल दिखाया।

    इससे पहले आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाजों जोश हेजलवुड (चार ओवर में 49 रन), मिशेल स्टार्क (38 रन देकर दो) और पैट कमिन्स (30 रन देकर एक) को पाकिस्तानी बल्लेबाजों ने निशाने पर रखा लेकिन स्पिनर एडम जंपा (22 रन देकर एक) और ग्लेन मैक्सवेल (तीन ओवर में 20 रन) ने किफायती गेंदबाजी की। बाबर और रिजवान ने फिर से पाकिस्तान को अच्छी शुरुआत दिलायी। इन दोनों ने पावरप्ले में बिना किसी नुकसान के 47 रन बनाये जो इस टूर्नामेंट में पहले छह ओवर में पाकिस्तान का सर्वाधिक स्कोर है।

    फिंच ने तीसरे ओवर में ही मैक्सेवल के रूप में स्पिन आक्रमण आजमाया। रिजवान ने तब खाता भी नहीं खोला था जब वार्नर ने सीमा रेखा पर उनका मुश्किल कैच छोड़ा। रिजवान ने इसका फायदा उठाकर हेजलवुड पर छक्का लगाया। इसके बाद हालांकि मैक्सवेल और जंपा ने दबाव बनाया जिसका प्रभाव बल्लेबाजों पर साफ दिखा। बाबर ने लेग स्पिनर जंपा के पहले ओवर में इस दबाव में स्लॉग स्वीप करके लांग ऑन पर वार्नर को आसान कैच दिया।

    उन्होंने अपनी पारी में पांच चौके लगाये। पाकिस्तान पर जब दबाव बन रहा था तब रिजवान ने जंपा पर स्क्वायर लेग पर छक्का लगाकर इस कैलेंडर वर्ष में टी20 अंतरराष्ट्रीय में 1000 रन पूरे किये। यह कारनामा करने वाले वह दुनिया के पहले क्रिकेटर हैं। स्टार्क का बाउंसर रिजवान के हेलमेट की ग्रिल पर लगा लेकिन इससे उनका विश्वास नहीं डगमगाया। उन्होंने 14वें ओवर में हेजलवुड पर एक और छक्का जड़कर टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया और फिर 41 गेंदों पर टूर्नामेंट में अपना तीसरा अर्धशतक पूरा किया।

    फखर ने पर्याप्त समय क्रीज पर बिताने के बाद हेजलवुड पर सीधा छक्का लगाकर अपने तेवर दिखाये। इस ओवर में रिजवान ने भी छक्का जमाया। रिजवान ने स्टार्क की गेंद पर कैच दिया लेकिन फखर रंग में लौट चुके थे। उन्होंने स्टार्क पर तीन छक्के लगाये लेकिन आसिफ अली (शून्य) और शोएब मलिक (एक) कुछ कमाल नहीं कर पाये। (एजेंसी)