GRANT

    नयी दिल्ली. दोपहर की एक बड़ी खबर के अनुसार, भारत के खिलाफ टी20 विश्व कप (T20 World Cup)में होने वाले महामुकाबले से ठीक पहले पाकिस्तान टीम (IND vs PAK Match) को एक बड़ी मजबूत झटका लगा है। जी हाँ खबरों की मानें तो पाकिस्तान के हाई परफॉर्मेंस कोचिंग प्रमुख ग्रांट ब्रैडबर्न (Grant Bradburn) ने अब अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। 

    गौरतलब है कि न्यूजीलैंड के पूर्व टेस्ट क्रिकेटर ब्रैडबर्न 3 साल से PCB से जुड़े थे। वो सितंबर 2018 से जून 2020 के बीच पाकिस्तान क्रिकेट टीम के फील्डिंग कोच भी रह चुके थे। इस बाबत पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड द्वारा जारी एक बयान में ब्रैडबर्न ने कहा कि ,पाकिस्तान क्रिकेट के साथ काम करना हमेशा ही गर्व की बात रही। मैं सुनहरी यादों और शानदाार अनुभव के साथ यहाँ से विदा ले रहा हूं। मैं PCB का शुक्रिया भी अदा करना चाहूंगा कि उन्होंने मुझे भी सीखने का सीखने का बेहतरीन मौका दिया।” 

    बता दें कि रमीज राजा के PCB चेयरमैन बनने के बाद से पद छोड़ने वाले ब्रैंडबर्न पांचवें आला अधिकारी हैं। उनसे पहले पाकिस्तान के मुख्य कोच मिसबाह उल हक, गेंदबाजी कोच वकार युनूस, सीईओ वसीम खान और मार्केटिंग हेड बाबर हमीद भी अपना पद छोड़ चुके हैं।

    3 साल ब्रैडबर्न  रहे पाकिस्तान के फील्डिंग कोच 

    पता हो कि 55 साल के ब्रैडबर्न ने कहा कि, कोरोना प्रोटोकॉल के चलते वह अपने परिवार के साथ समय नहीं बिता पा रहे थे। उन्होंने आगे यह भी कहा कि, “मेरी पत्नी मारी और तीन बच्चों ने भी मुझे पाकिस्तान क्रिकेट की सेवा करने की अनुमति देकर बहुत बड़ा त्याग किया है। कोरोना नियमों ने उनके लिए पाकिस्तान का दौरा करना और इस देश की गर्मजोशी, प्यार और दोस्ती को महसूस करना चुनौतीपूर्ण बना दिया। अब मेरे लिए परिवार को प्राथमिकता देने और अगली कोचिंग चुनौती के लिए आगे बढ़ने का समय है।

    न्यूजीलैंड के लिए 7 टेस्ट खेले थे ब्रैडबर्न 

    गौरतलब है कि, ब्रैडबर्न ऑफ स्पिन गेंदबाजी किया करते थे। उन्होंने 1990 से 2001 तक न्यूजीलैंड के लिए 7 टेस्ट और 11 एकदिवसीय मैच खेले। वहीं ब्रैडबर्न ने न्यूजीलैंड-ए और न्यूजीलैंड अंडर-19 टीम को भी कोचिंग दी। कालांतर में उन्हें पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने देश में संचालित हो रहे सभी हाई परफॉर्मेंस सेंटर में काम कर रहे सपोर्ट स्टाफ के ट्रेनिंग के स्तर को ऊंचा उठाने और व्यापक सुधार करने कि भी की जिम्मेदारी दी थी।