क्या आप जानते हैं Mr. IPL के जीवन से जुड़ी ये खास बातें

    नई दिल्ली : सुरेश कुमार रैना (Suresh Kumar Raina) का जन्म 27 नवंबर 1986 को मुरादनगर (Muradnagar), गाजियाबाद (Ghaziabad), उत्तर प्रदेश में हुआ था। रैना (Raina) एक पूर्व भारतीय अंतरराष्ट्रीय (International) क्रिकेटर (Cricketer) हैं। रैना आज पूरे 35 साल के हो गए है। रैना के पिता त्रिलोकचंद रैना हैं, त्रिलोकचंद एक आर्मी ऑफिसर थे, जो ऑर्डनेंस फैक्ट्री में बम बनाने में माहिर थे, और रैना की मां परवेश रैना हैं।  इसके अलावा रैना के परिवार में तीन भाई और एक बड़ी बहन हैं।

    रैना ने 14 साल की उम्र में क्रिकेट खेलने का फैसला किया और स्पेशलिस्ट गवर्नमेंट स्पोर्ट्स कॉलेज में गए थे। रैना एक पूर्व भारतीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर है। रैना बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं और कभी-कभी दाएं हाथ के ऑफ स्पिन गेंदबाज भी हैं। इन्हें विश्व क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ क्षेत्ररक्षकों में से एक माना जाता हैं।

    रैना घरेलू क्रिकेट के सभी प्रारूपों में उत्तर प्रदेश के लिए खेल चुके हैं। यह इंडियन प्रीमियर लीग में गुजरात लायंस के कप्तान थे, और चेन्नई सुपर किंग्स के उप-कप्तान थे।  इन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी भी की है और भारत की कप्तानी करने वाले अब तक के दूसरे सबसे बड़े युवा खिलाड़ी भी रहे  है। रैना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में शतक बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज है। रैना ने 3 अप्रैल 2015 को प्रियंका से शादी की। इनकी एक बेटी ग्रेसिया रैना और एक बेटा रियो रैना है। महेंद्र सिंह धोनी रैना के सबसे करीबी दोस्त है। 15 अगस्त 2020 को रैना ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की। यह व्यक्तिगत कारणों से 2020 इंडियन प्रीमियर लीग से हट गए।

    खेल जीवन :

    वर्ष 2000 में, रैना ने क्रिकेट खेलने का फैसला किया और बाद में गुरु गोबिंद सिंह स्पोर्ट्स कॉलेज, लखनऊ में भाग लेने के लिए अपने गृहनगर मुरादनगर, गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश से लखनऊ चले गए थे। रैना उत्तर प्रदेश अंडर -16 के कप्तान बन गए और 2002 में भारतीय चयनकर्ताओं के बीच प्रमुखता से आए, जब इन्हें इंग्लैंड के अंडर -19 दौरे के लिए साढ़े 15 साल की उम्र में चुना गया था, जहां इन्होंने अंडर-19 टेस्ट मैचों में अर्धशतक बनाया था। इन्होंने उस वर्ष के अंत में अंडर-17 टीम के साथ श्रीलंका का दौरा किया था।

    इन्होंने 16 साल की उम्र में फरवरी 2003 में असम के खिलाफ उत्तर प्रदेश के लिए रणजी ट्रॉफी में पदार्पण किया, रैना वर्ष 2005 में इंदौर में मध्य प्रदेश के खिलाफ लिस्ट ए में पदार्पण किया और 16 रन बनाए। यह इंडिया ग्रीन, यूपी अंडर 16, इंडिया ब्लू, इंडिया रेड, रेस्ट ऑफ इंडिया, इंडिया अंडर 19, भारतीय बोर्ड के प्रेसिडेंट इलेवन, राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट इलेवन, इंडिया सीनियर्स, सेंट्रल जोन के लिए खेले।  रणजी ट्रॉफी 2005-06 सीजन में इन्होंने 6 मैचों में 620 रन बनाए।

    रैना वर्ष 2004 अंडर-19 विश्व कप के लिए चुने जाने से पहले अंडर -19 एशियाई एक दिवसीय चैम्पियनशिप के लिए पाकिस्तान का दौरा किया, जहां इन्होंने केवल 38 गेंदों में 90 सहित तीन अर्धशतक बनाए।  फिर इन्हें ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट अकादमी में प्रशिक्षण के लिए सीमा-गावस्कर छात्रवृत्ति से सम्मानित किया गया और 2005 की शुरुआत में, इन्होंने उस सीजन में 53.75 की औसत से 645 रन बनाकर प्रथम श्रेणी में सीमित ओवरों में पदार्पण किया था।

    आईपीएल 2010 फाइनल से पहले रैना को बीसीसीआई द्वारा “सर्वश्रेष्ठ क्षेत्ररक्षक” से सम्मानित किया गया था। इन्होंने एक महत्वपूर्ण अर्धशतक खेला जिससे चेन्नई के लिए फाइनल में रुख बदल गया। जो अंततः मुंबई इंडियंस को हराकर चैंपियन बन गये।  2010 में इनके प्रदर्शन के लिए, इन्हें क्रिकइन्फो आईपीएल इलेवन में नामित किया गया था। 30 मई 2014 को, इन्होंने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ क्वालीफायर 2 में 25 गेंदों में 87 रन बनाए। जिसमें ये क्रिकेट इतिहास के सबसे तेज शतक से सिर्फ 13 रन से चूक गए थे। 2014 में इनके प्रदर्शन के लिए, इन्हें क्रिकइन्फो आईपीएल इलेवन और क्रिकइन्फो सीएलटी20 इलेवन में नामित किया गया था।

    23 मार्च 2019 को, टूर्नामेंट के 12वें संस्करण के पहले मैच में आरसीबी के खिलाफ, रैना आईपीएल में 5000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बने। 2020 में, रैना ने संयुक्त अरब अमीरात के लिए उड़ान भरी, जहां सुपर किंग्स टीम के साथ चल रहे COVID-19 महामारी के कारण IPL खेला जाना था, लेकिन कुछ दिनों बाद रैना भारत लौट आए और व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए IPL के 2020 सीजन से हट गए। 2021 में रैना आईपीएल के इतिहास में 200 मैच खेलने वाले चौथे खिलाड़ी बने।

    उपलब्धियां :

    • रैना आईपीएल में 5,000 रन तक पहुंचने वाले पहले क्रिकेटर है
    • इनके नाम आईपीएल में सर्वाधिक कैच (102) का रिकॉर्ड है
    • यह सीएलटी20 में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी है
    • सुरेश रैना क्रिकेट के तीनों फॉरमेट में शतक जड़ने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज है