एडीलेड. भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने बुधवार को स्वयं को ‘नये भारत का प्रतिनिधित्व करने वाला’ करार दिया जो पूरी उम्मीदों के साथ नयी चुनौतियों का सामना करने के लिये हमेशा तैयार रहता है। कोहली (Virat Kohli) ने ग्रेग चैपल (Greg Chappell) की इस टिप्पणी के संदर्भ में यह बात कही जिसमें पूर्व आस्ट्रेलियाई (Australia) कप्तान ने कहा था कि वह ‘गैर आस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों में सबसे अधिक आस्ट्रलियाई (मानसिकता वाला खिलाड़ी) है।”

आस्ट्रेलिया (Australia) के खिलाफ पहले टेस्ट (First Test Match) मैच की पूर्व संध्या पर कोहली से उनकी आक्रामक क्रिकेट और जुझारूपन के बारे में पूछा गया जिसका जिक्र की पूर्व में भारतीय कोच रहे चैपल ने किया था। चैपल को इसी तरह की मानसिकता अपने देश के क्रिकेटरों में लगती है। कोहली (Virat Kohli) ने कहा, ‘‘मैं हमेशा से कहता रहा हूं कि यह मेरी अपनी शैली है। जिस तरह से मेरा व्यक्तित्व और चरित्र है, मैं नये भारत का प्रतिनिधित्व कर रहा हूं। मैं इसे इस तरह से देखता हूं। ”

उन्होंने कहा, ‘‘मेरे दिमाग में आस्ट्रेलियाई मानसिकता या इस तरह की तुलना की बात नहीं है। यह भारतीय क्रिकेट टीम को आगे बढ़ाने से जुडा है और पहले दिन से मेरा व्यक्तित्व ऐसा रहा है। ” कोहली (Virat Kohli) ने कहा कि नये भारत का मतलब है जो किसी भी तरह की चुनौती का सामना करने से नहीं घबराये।

उन्होंने कहा, ‘‘नया भारत चुनौतियां स्वीकार करता है और उसमें आशा और सकारात्मकता भरता है। हम यह सुनिश्चित करते हैं कि हम अपने सामने आने वाली किसी भी तरह की चुनौती के लिये तैयार हैं। ” (एजेंसी)

चैपल को इसी तरह की मानसिकता अपने देश के क्रिकेटरों में लगती है।