File Photo
File Photo

    -विनय कुमार 

    वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले कप्तान विराट कोहली टीम ताज़ा ‘ICC T20 WORLD CUP, 2021’खिताब जीतने के प्रबल दावेदारों में से एक थी। गौरतलब है कि टीम इंडिया में शामिल खिलाड़ियों ने UAE की आबोहवा में ही वहीं के मैदानों में IPL 2021 में खूब मैच खेले और  उन्हें वहां की परिस्थितियों से रूबरू कराने का काफी समय मिला। यही नहीं टीम इंडिया ने T20 World Cup में अपने कैंपेन की शुरूआत करने से पहले इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ (Warm-up Matches against England and Australia) जो दो वार्म अप मैच खेले, उसमें भी विराटसेना ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था और एकतरफा जीत दर्ज कर खिताब जीतने की अपनी दावेदारी को बरकरार रखा था। लेकिन, SUPER-12 स्टेज के मुकाबले शुरू होते साथ भारतीय टीम की हवा निकल गई। 

    पहले मैच में पाकिस्तान ने (India vs Pakistan T20 World Cup, 2021) 10 विकेट से भारतीय टीम को बुरी तरह हराया। और अगले मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले (India vs New Zealand) मैच में न्यूजीलैंड ने भी 8 विकेट से हरा दिया। बीते रविवार, 31 अक्टूबर को न्यूजीलैंड ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए भारत के बल्लेबाजों को 110 रन के मामूली स्कोर पर समेट दिया और इस लक्ष्य को 33 गेंद शेष रहते हासिल कर जीत दर्ज कर ली थी। 

    नतीजन, जो टीम इंडिया टूर्नामेंट में मैदान में उतरने से पहले खिताब जीतने की प्रबल दावेदार थी, अब उसे इस वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए संजीवनी बूटी की आस है, जिसका मिलना किसी चमत्कार से कम नहीं। अब अगर विराटसेना अपने बाकी के तीनों मैच भारी अंतर से जीत लेती है और अफगानिस्तान, न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने अगले मुकाबले में जीत जाता है, तब जाकर भारत की किस्मत का दरवाजा खुल सकता है।

    न्यूजीलैंड के खिलाफ बीते रविवार, 31 अक्टूबर को खेले गए मैच में भारतीय टीम को मिली करारी हार के बाद कप्तान के साथ साथ टीम।मैनेजमेंट सवालों के कठघरे में खड़े नजर आ रहे हैं। जिसमें रोहित शर्मा (Rohit Sharma) से ओपनिंग न करा कर ईशान किशन (Ishan Kishan) को ओपनिंग में भेजना और पाकिस्तान के खिलाफ (India vs Pakistan T20 World Cup, 2021) खराब प्रदर्शन करने के बावजूद दूसरे मुकाबले में न्यूजीलैंड के खिलाफ वरुण (Varun Chakravarthy) चक्रवर्ती को मौका देना शामिल रहा।

    इंग्लैंड क्रिक्रेट टीम के पूर्व खिलाड़ी निक कॉम्पटन ने भी टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin off-spinner Team India) को शामिल नहीं करने को लेकर सवाल उठाया। कॉम्पटन ने वॉर्म अप मैच में रविचंद्रन अश्विन के बेहतरीन प्रदर्शन की बात करते हुए कहा कि, “मुझे समझ नहीं आ रहा कि कोहली (Virat Kohli Captain Indian Cricket Team) उनके साथ ऐसा क्यों कर रहे हैं।”

    नतीजा ये रहा कि, टूर्नामेंट से पहले जो भारतीय टीम खिताब जीतने की प्रबल दावेदार मानी जा रही थी, अब उसे सेमीफाइनल में पहुंचने के लिये भगवान भरोसे रहना पड़ रहा है।

    कॉम्पटन ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट पर लिखा, “मुझे बस ये बात समझ में नहीं आ रही है कि कैसे कोहली (Virat Kohli) के अश्विन (Ravichandran Ashwin) से खराब रिश्तों की वजह से इस महान स्पिनर को टीम में जगह नहीं मिल रही है। जरा सोचिए, क्या टीम के कप्तानों के पास इतनी आजादी होनी चाहिए?”

    गौरतलब है कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब प्लेइंग इलेवन में अश्विन (Ravichandran Ashwin) को शामिल नहीं करने पर कप्तान विराट कोहली और टीम मैनेजमेंट की आलोचना हो रही है। अगस्त में जब टीम इंडिया इंग्लैंड के दौरे पर थी और इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज (India vs England Test Series 2021) खेल रही थी, तब भी रविचंद्रन अश्विन को प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किए जाने पर विराट कोहली को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था।

    निक कॉम्पटन ने ट्वीट में बेखौफ लिखा और जोरदार तमाचा मारते हुए कहा,  “आपके पास 2 बिलियन लोग हैं, जिसमें से टीम का सिलेक्शन किया जा सकता है। आप यह कैसे बोल सकते हैं कि शार्दुल (Shardul Thakur) को अवसर दिया जाना चाइए। खास तौर पर, ऐसे समय में जब शार्दुल अश्विन (Ravichandran Ashwin) से बढ़िया खिलाड़ी नहीं हैं। ऐसा बिलकुल नहीं होना चाहिए।”