cricket

नयी दिल्ली. भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच खेली जा रही 4 मैचों की बॉर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज (Border Gavaskar Test Series) का पहला मैच एडिलेड (Adelaide) के मैदान पर खेला गया। एडिलेड में खेले इस मैच में टीम इंडिया (Team India) को  ऐतिहासिक शर्मनाक हार मिली। पहली पारी में लीड कर रही भारतीय टीम दूसरी पारी में टेस्ट मैच के इतिहास के अपने न्यूनतम स्कोर 36 रन पर सिमट गई। सभी के सभी खिलाड़ी सिर्फ़ 36 रन के स्कोर पर आउट हो गए।

मेलबर्न टीम इंडिया के लिए क्या होगा ‘लकी’:

धुरंधरों की टीम कहीं जाने वाली टीम यानी कप्तान कोहली की सेना का कोई भी खिलाड़ी डबल डिजिट में स्कोर नहीं बना सका।इस शर्मनाक हार के बाद टीम इंडिया की खूब आलोचनाएं हुईं। होना स्वाभाविक भी था, क्योंकि इस मैच के पहले दो दिन भारतीय टीम का दबदबा था। अब सीरीज का दूसरा मैच 26 दिसंबर से मेलबर्न में खेला जाना है। ग़ौरतलब है कि मेलबर्न (Melbourne) के इस मैदान पर भारतीय टीम का रिकॉर्ड बेहतर है। इतिहास पर नजर डालें तो पता चलता है कि मेलबर्न में टीम इंडिया इस मैच में वापसी कर सकती है। बेहतर संभावना है।

क्या कहते हैं रिकॉर्ड:

2 साल पहले 2018 में जान भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर थी, तब टीम इंडिया ने मेलबर्न (Melbourne Test Match) इसी मैदान पर ‘बॉक्सिंग डे टेस्ट’ (Boxing Day Test) खेला था और ऑस्ट्रेलिया को हराया था। भारत की उस मैच में 137 रनों से जीत हुई थी।

टीम इंडिया ने जनवरी 1948 में इस मैदान पर अपना पहला टेस्ट मैच खेला था। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने 233 रनों से जीत हासिल की थी। फरवरी 1948 में खेले गए दूसरे मैच में एक पारी और 177 रन से हार का सामना किया। जनवरी 1968 में ऑस्ट्रेलिया ने इसी मैदान पर भारतीय टीम को एक पारी और 4 रन से मात दी थी।

भारतीय टीम ने जनवरी 1978 में ऑस्ट्रेलिया को मेलबर्न (Melbourne) के मैदान पर 222 रनों से हराकर पहली जीत अपने नाम किया था। फरवरी 1981 के मुकाबले में भारत ने ऑस्ट्रलिया को 59 रनों से हराया था। दिसंबर 1985 में मैच ड्रॉ रहा, लेकिन, दिसंबर 1991 में ऑस्ट्रेलिया ने 8 विकेट से भारत को हराकर जीत हासिल की थी। 

ऑस्ट्रेलिया ने दिसंबर 1999 में भारतीय टीम को 180 रनों और दिसंबर 2003 में 9 विकेट से हराया। दिसंबर 2007 में ऑस्ट्रेलिया ने 337 रन और 2011 में 122 रनों से जीत हासिल की। 2014 में मुकाबला ड्रॉ रहा।

2018 में भारत ने 137 रनों से ऑस्ट्रेलिया पर जीत हासिल की थी।2018 के इस मुकाबले में टीम इंडिया ने चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) की शतकीय पारी की बदौलत 443 रन बनाकर पारी घोषित की थी और ऑस्ट्रेलिया की टीम 151 रनों पर सिमट गई थी। दूसरी पारी में भारत ने 8 विकेट पर 106 रन बनाकर पारी घोषित की थी और ऑस्ट्रेलिया को 399 रनों का लक्ष्य दिया।लक्ष्य का पीछा करने मैदान में उतरी ऑस्ट्रेलिया की टीम 261 रन बना सकी और मैच हार गई। इस मैच में भारतीय घातक तेज़ गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और रवींद्र जडेजा ने शानदार गेंदबाजी की थी। 

बहरहाल, 26 दिसंबर 2020 को होने जा रहे दूसरे टेस्ट मैच में टीम इंडिया के ऑल राउंडर खिलाड़ी रविंद्र जडेजा भी वापसी कर रहे हैं। ऐसे में उम्मीद की जा सकती है कि भारतीय टीम पूरे दमखम से वापसी कर सकती है।

विनय कुमार