Team India
Photo : BCCI

    कोलंबो. सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav) के अर्धशतक के बाद भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) की अगुआई में गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से भारत (India) ने पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में रविवार को यहां श्रीलंका (Sri Lanka) को 38 रन से हराकर तीन मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त बनाई। भारत के 165 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंका की टीम तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर (22 रन पर चार विकेट) और दीपक चाहर (24 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने 18.3 ओवर में 126 रन पर ढेर हो गई। श्रीलंका ने अंतिम सात विकेट सिर्फ 36 रन पर गंवाए।

    मेजबान टीम की ओर से चरिथ असालांका ने सर्वाधिक 44 रन बनाए। युजवेंद्र चहल ने भी किफायती गेंदबाजी करते हुए 19 रन देकर एक विकेट हासिल किया जबकि वरूण चक्रवर्ती, हार्दिक पंड्या और कृणाल पंड्या ने भी एक-एक विकेट चटकाया। दुष्मंता चमीरा (24 रन पर दो विकेट) और वानिंदु हसारंगा (28 रन पर दो विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने भारत भी सूर्यकुमार (50) के अर्धशतक और कप्तान शिखर धवन (46) की उपयोगी पारियों के बावजूद पांच विकेट पर 164 रन ही बना सका था।

    सूर्यकुमार ने 34 गेंद की अपनी पारी में पांच चौके और दो छक्के जड़े। उन्होंने धवन के साथ तीसरे विकेट के लिए 62 रन की साझेदारी भी की। धवन ने संजू सैमसन (27) के साथ दूसरे विकेट के लिए 51 रन जोड़े। यहां आर प्रेमदासा स्टेडियम में ही 27 जुलाई को दूसरा टी20 मुकाबला खेला जाएगा। श्रीलंका की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। चाहर की गेंद पर मिनोद भानुका को हार्दिक ने जीवनदान दिया। यह सलामी बल्लेबाज हालांकि कृणाल की गेंद पर कवर में सूर्यकुमार को कैच दे बैठा। उन्होंने 10 रन बनाए। सलामी बल्लेबाज अविष्का फर्नांडो ने चाहर पर दो चौके जड़े जबकि धनंजय डिसिल्वा ने भी कृणाल पर चौका मारा।

    श्रीलंका ने पावर प्ले में एक विकेट पर 44 रन बनाए। धवन ने सातवें ओवर में गेंद चहल को थमाई और इस लेग स्पिनर ने कप्तान को निराश नहीं करते हुए दूसरी ही गेंद पर डिसिल्वा को बोल्ड कर दिया। उन्होंने नौ रन बनाए। भुवनेश्वर ने इसके बाद फर्नांडो (26) को डीप स्क्वायर लेग पर सैमसन के हाथों कैच कराया जिससे श्रीलंका का स्कोर तीन विकेट पर 50 रन हो गया। चरिथ असालांका ने हार्दिक पर पारी का पहला छक्का मारा और फिर वरूण चक्रवर्ती पर भी छक्का जड़ा। हार्दिक ने आशेन बंडारा (09) को बोल्ड करके भारत को चौथी सफलता दिलाई।

    असालांका ने 14वें ओवर में चक्रवर्ती पर अपना तीसरा छक्का जड़ा और फिर चौका भी मारा। इसी ओवर में टीम के रनों का शतक भी पूरा हुआ। श्रीलंका को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 58 रन की दरकार थी। असालांका ने चाहर की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में डीप मिडविकेट पर पृथ्वी साव को कैच थमा दिया। उन्होंने 26 गेंद का सामना करते हुए तीन छक्के और इतने ही चौके मारे। चाहर ने इसी ओवर में वानिंदु हसारंगा (00) को भी बोल्ड किया। भुवनेश्वर के 17वें ओवर में शनाका ने छक्का जड़ा लेकिन इसी ओवर में चमिका करूणारत्ने (03) विकेटों पर शॉट खेल गए।

    श्रीलंका को अंतिम ओवर में 43 रन की जरूरत थी। चक्रवर्ती के 18वें ओवर में सिर्फ तीन रन बने जबकि शनाका को इशान किशन से स्टंप कर दिया। शनाका ने 16 रन बनाए। भुवनेश्वर ने अगले ओवर में इसुरू उदाना (01) और दुष्मंता चमीरा (01) को पवेलियन भेजकर भारत को जीत दिलाई। इससे पहले भारतीय टीम एक समय 14 ओवर में दो विकेट पर 113 रन बनाकर अच्छी स्थिति में थी लेकिन उसके बल्लेबाज डेथ ओवरों में बड़े शॉट खेलने में नाकाम रहे और टीम अंतिम पांच ओवर में 43 रन ही बना सकी।

    श्रीलंका के कप्तान दासुन शनाका ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और तेज गेंदबाज चमीरा ने पदार्पण कर रहे पृथ्वी साव को मैच की पहली ही गेंद पर विकेटकीपर मिनोद के हाथों कैच करा दिया। धवन और सैमसन ने इसके बाद पारी को संभाला। दोनों ने पावर प्ले में भारत का स्कोर एक विकेट पर 51 रन तक पहुंचाया। धवन ने चमिका करूणारत्ने पर पारी का पहला चौका जड़ा और फिर स्पिनर अकिला धनंजय पर भी दो चौके मारे।

    सैमसन ने भी छठे ओवर में अकिला के ओवर में चौके और छक्के से 16 रन बटोरे। लेग स्पिनर हसारंगा ने सैमसन को पगबाधा करके श्रीलंका को दूसरी सफलता दिलाई। सैमसन ने 20 गेंद का सामना करते हुए दो चौके और एक छक्का मारा। सूर्यकुमार एक बार फिर अच्छी लय में दिखे। उन्होंने हसारंगा पर दो चौके जड़ने के बाद उसुरू उदाना और करूणारत्ने की गेंद को भी बाउंड्री के दर्शन कराए।

    धवन ने भी तेवर दिखाते हुए 12वें ओवर में अकिला पर छक्के और चौके के साथ टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। धवन हालांकि करूणारत्ने की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में डीप बैकवर्ड स्क्वायर लेग पर आशेन बंडारा को कैच दे बैठे। उन्होंने 36 गेंद का सामना करते हुए चार चौके और एक छक्का जड़ा।

    सूर्यकुमार ने हसारंगा पर छक्के के साथ 33 गेंद में अर्धशतक पूरा किया लेकिन अगली गेंद पर इसी शॉट को दोहराने की कोशिश में बाउंड्री पर कैच दे बैठे। इशान किशन (नाबाद 20) और हार्दिक पंड्या को बड़े शॉट खेलने में परेशानी हुई। हार्दिक तो बिलकुल भी लय में नहीं दिखे और 12 गेंद में 10 रन बनाने के बाद चमीरा की गेंद पर विकेटकीपर को कैच थमा बैठे। भारतीय बल्लेबाज अंतिम दो ओवर में कोई बाउंड्री नहीं लगा पाए। भारत ने इस मुकाबले में पृथ्वी और वरूण चक्रवर्ती जबकि श्रीलंका ने करूणारत्ने और चरिथ असालांका को पदार्पण का मौका दिया। (एजेंसी)