अर्जुन तेंडुलकर इसलिए किए गए ‘मुंबई इंडियंस’ से बाहर, IPL डेब्यू पड़ा खटाई में

    विनय कुमार

    ‘मुंबई इंडियंस’ खेमे की तरफ से एक बड़ी खबर निकली है, मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर (Sachin Tendulkar) के बेटे अर्जुन तेंडुलकर (Arjun Tendulkar)  इंजर्ड हो गए हैं, जिसकी वजह से अब उनका इस सीजन भी ‘IPL T20 TOURNAMENT’ में डेब्यू करना नहीं हो पाएगा।

    ‘मुंबई इंडियंस’ की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, तेज़ गेंदबाज अर्जुन तेंडुलकर इंजरी की वजह से IPL 2021 से बाहर हो गए हैं। अब उनकी जगह डिफेंडिंग चैंपियन मुंबई इंडियंस ने उनकी जगह सिमरजीत सिंह (Simarjeet Singh) को टीम में शामिल किया है। ‘मुंबई इंडियंस’ (MI) अपने बयान में कहा, ‘IPL 2021’ के बाकी बचे सेशन के लिए अर्जुन तेंडुलकर (Arjun Tendulkar) की जगह रिप्लेसमेंट के तौर पर सिमरजीत सिंह को शामिल कर लिया गया है।”

    गौरतलब है की, दाएं हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज (Right Arm Medium Pacer Simarjeet Singh) सिमरजीत सिंह ने IPL 2021 के नियमों के तहत COVID-19 PROTOCOL का अनिवार्य क्वारंटीन पीरियड भी पूरा कर लिया है। और अब वी टीम के साथ प्रैक्टिस भी कर रहे हैं।

    आपको याद दिला दें कि IPL 2021 के दूसरे चरण के आरंभ होने से पहले ‘मुंबई इंडियंस’ (Mumbai Indians MI) ने मोहसिन खान (Mohsin Khan) की जगह गुजरात के बाएं हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज (Left Arm Medium Pacer Rosh Kalariya) रोश कलारिया को अपनी टीम में शामिल किया था।  

    बहरहाल, बीते मंगलवार को अबु धाबी के मैदान में ‘पंजाब किंग्स’ के खिलाफ खेले गए मैच में जीत हासिल कर ‘मुंबई इंडियंस’ ने IPL 2021 के PLAY-OFF में जाने की उम्मीदों को जिंदा किए रखा है। इस जीत ने डिफेंडिंग चैंपियन टीम के कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma Captain Mumbai Indians MI) को फाइनल तक की यात्रा की दिशा में एक जलता चिराग ज़रूर दिखा दिया है।

    बीते मंगलवार, 28 सितंबर को ‘मुंबई इंडियंस’ ने ‘पंजाब किंग्स’ को 6 विकेट से हराया। ‘मुंबई इंडियंस’ ने PBKS से जीत के लिए दिए गए 136 रनों के टारगेट को 19 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर  हासिल कर लिया और बाजी जीत ली। अब ‘मुंबई इंडियंस’ का अगला मुकाबला अगले शनिवार को ‘दिल्ली कैपिटल्स’ (MI vs DC IPL 2021)  से होगा। 

    गौरतलब है कि IPL 2021 की नीलामी में अर्जुन तेंडुलकर को ‘मुंबई इंडियंस’ ने 20 लाख रूपये में खरीदा था, इस ताज़ा सीजन में उन्हें एक भी मैच में खेलने का अवसर नहीं दिया गया।