क्रिकेट नियमों में हुआ बड़ा बदलाव, हमेशा के लिए हटाया गया ‘बैट्समैन’ शब्द, जानें वजह

    नई दिल्ली: क्रिकेट की दुनिया में बल्लेबाजों को हमेशा से ही अंग्रेजी में बैट्समैन (Batsman) कहा जाता है, लेकिन अब क्रिकेट नियमों (Cricket Rules) में बड़ा बदलाव (Changes In Cricket Rules) देखने मिला है। बदले नियमों के अनुसार अब बल्लेबाजों को ‘बैट्समैन’ नहीं कहा जाएगा, अब इन्हें ‘बैटर’ (Batter instead of Batsman) के नाम से जाना जाएगा। मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (MCC) ने बुधवार को यह ऐलान करते हुए साफ किया है कि, क्रिकेट के खेल में अब महिला और पुरुष क्रिकेटरों (Women And Men Crickters) के लिए अब समान शब्द का इस्तेमाल होगा। अब किसी भी बल्लेबाज को ‘बैटर’ (Batter) कहा जाएगा।

    बदलाव के पीछे बड़ा मकसद  

    दरअसल, क्रिकेट के नियमों में अचानक हुए इस बदलाव का मकसद बहुत ही शानदार है। बोर्ड मेंबर अब चाहते हैं कि क्रिकेट में महिला और पुरुष क्रिकेटरों को बराबरी का दर्जा दिया जाना चाहिए। इससे क्रिकेट के स्टैंडर्ड को और बेहतर बनाया जा सकता है। अब पुरुष और महिला दोनों के लिए ‘बैट्समैन’ के बजाय तुरंत प्रभाव से ‘जेंडर न्यूट्रल’ शब्द ‘बैटर’ का उपयोग होगा। एमसीसी का मानना है कि ‘जेंडर-न्यूट्रल’ का इस्तेमाल सभी के लिए एक सा होने पर क्रिकेट के दर्जे को बेहतर किया जा सकेगा। 

    क्या रही बदलाव की वजह? 

    महिला क्रिकेट ने दुनियाभर में बड़े स्तर पर पहुंचकर काफी नाम कमाया है। इसलिए महिलाओं और लड़कियों को क्रिकेट खेलने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए अधिक से अधिक ‘जेंडर न्यूट्रल’ शब्दों को अपनाने का फैसला किया जा रहा है। बता दें कि कई संचालन संस्थाएं और मीडिया संस्थाएं पहले से ही ‘बैटर’ शब्द का इस्तेमाल करती आई हैं। एमसीसी ने कहा, ‘2017 में पिछले ‘रिड्राफ्ट’ में ICC और महिला क्रिकेट की कुछ महत्वपूर्ण अधिकारियों से सलाह के बाद सहमति बनी थी कि खेल के नियमों के अनुसार शब्दावली ‘बैट्समैन’ ही रहेगी।’

    हमेशा के लिए हटा ‘बैट्समैन’ शब्द

    घोषित हुए बदलावों में ‘बैटर’ और ‘बैटर्स’ शब्द क्रिकेट में अब यूज़ होगा। वह नियम ‘बॉलर्स’ और ‘फील्डर्स’ शब्दों के अनुरूप ही है। एमसीसी में सहायक सचिव जेमी कॉक्स ने बताया कि, ‘एमसीसी क्रिकेट को सभी के लिए एक खेल मानता है। यह समय इस फैसले को आधिकारिक रूप से मान्यता देने के लिए सही है और हम इन बदलावों का ऐलान करते हुए बेहद खुश हैं।’ ज्ञात हो कि, हिंदी में महिला क्रिकेटर और पुरुष क्रिकेटर के लिए बल्लेबाज शब्द का ही उपयोग किया जाता है।