IND vs BAN
PTI Photo

    मीरपुर: चोटिल रोहित शर्मा की पराक्रमी पारी के बावजूद मेहदी हसन मिराज का लगातार दूसरे मैच में दिखाया गया कमाल आखिर में भारत पर भारी पड़ा जिससे बांग्लादेश ने बुधवार को यहां दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में पांच रन से रोमांचक जीत दर्ज करके तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 से अजेय बढ़त हासिल की।

    बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी का फैसला करते हुए सात विकेट पर 271 रन का मजबूत स्कोर बनाया। उसने 19वें ओवर में 69 रन पर छह विकेट गंवा दिए थे जिसके बाद मेहदी हसन ने 83 गेंद में आठ चौकों और चार छक्कों से नाबाद 100 रन की पारी खेलने के अलावा महमूदुल्लाह (96 गेंद में 77 रन, सात चौके) के साथ सातवें विकेट के लिए 148 रन की साझेदारी करके पारी को संवारा। यह भारत के खिलाफ सातवें विकेट की सबसे बड़ी साझेदारी है।

    चुनौतीपूर्ण लक्ष्य के सामने रोहित के चोटिल होने के कारण पंगु बना भारतीय शीर्ष क्रम फिर से लड़खड़ा गया। भारत का स्कोर एक समय चार विकेट पर 65 रन था जिसके बाद श्रेयस अय्यर (102 गेंदों पर 82 रन, छह चौके, तीन छक्के) और अक्षर पटेल (56 गेंदों पर 56 रन, दो चौके, तीन छक्के) ने पांचवें विकेट के लिए 107 रन की साझेदारी की। रोहित नौवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे और उन्होंने 28 गेंदों पर तीन चौकों और पांच छक्कों की मदद से नाबाद 51 रन बनाए लेकिन आखिर में भारत नौ विकेट पर 266 रन ही बना पाया। भारत को आखिरी ओवर में 20 रन चाहिए थे लेकिन रोहित मुस्तफिजुर रहमान पर दो चौके और एक छक्के की मदद से 14 रन ही जुटा पाए।  भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही।

    रोहित के चोटिल होने के कारण पारी का आगाज करने के लिए उतरे विराट कोहली (पांच) ने दूसरे ओवर में ही इबादत हुसैन (45 रन देकर तीन) की तेजी से उठती गेंद को पुल करने के प्रयास में अपने विकेटों पर खेल दिया। शिखर धवन (आठ) की खराब फॉर्म जारी रही। उन्होंने मुस्तफिजुर की गेंद पर प्वाइंट पर आसान कैच दिया। वाशिंगटन सुंदर (11) को चौथे नंबर पर भेजने का प्रयोग नहीं चला और शाकिब अल हसन ने उन्हें अपने पहले ओवर में ही मिडविकेट पर कैच करवा दिया।

    केएल राहुल (14) को स्पिनरों के सामने संघर्ष करना पड़ा और मेहदी हसन (46 रन देकर दो) ने उन्हें पगबाधा आउट करके भारत को चौथा झटका दिया। अक्षर ने आते ही आक्रामक रवैया अपनाया। उन्होंने नासुम अहमद और शाकिब पर छक्के लगाए। दूसरी तरफ अय्यर ने 69 गेंदों पर अपना पचासा पूरा किया और फिर मेहदी हसन पर लांग ऑन पर खूबसूरत छक्का जड़ा। उन्होंने इसी गेंदबाज पर छक्का लगाकर अक्षर के साथ साझेदारी को 100 रन के पार पहुंचाया।

    अय्यर ने हालांकि इसी ओवर में गेंद हवा में लहरा कर डीप मिडविकेट पर कैच दे दिया। अक्षर ने नासुम पर छक्का लगाया और फिर अपने वनडे करियर का दूसरा अर्धशतक पूरा किया, लेकिन इबादत हुसैन ने उन्हें आउट करके भारत को करारा झटका दिया। रोहित हाथ में पट्टियां बंधे होने के बावजूद नौवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे। उनके साथ दूसरे छोर पर दीपक चाहर (11) खेल रहे थे जो कि हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण बांग्लादेश की पारी में केवल तीन ओवर कर पाए थे।

    रोहित ने इबादत हुसैन और महमुदुल्लाह पर दो-दो छक्के जड़कर मैच को रोमांचक बनाया। इससे पहले बांग्लादेश की पारी पिछले मैच के नायक मेहदी हसन के इर्द गिर्द घूमती रही। उन्होंने महमुदुल्लाह साथ महत्वपूर्ण भागीदारी निभाने के अलावा नासुम अहमद (11 गेंद में नाबाद 18) के साथ भी आठवें विकेट के लिए 23 गेंद में 54 रन की अटूट साझेदारी की। बांग्लादेश की टीम अंतिम 10 ओवर में ताबड़तोड़ बल्लेाबजी करते हुए 102 रन जोड़ने में सफल रही। भारत की ओर से वाशिंगटन सुंदर सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 37 रन देकर तीन विकेट चटकाए।

    उमरान मलिक और मोहम्मद सिराज ने भी क्रमश: 58 और 73 रन देकर दो-दो विकेट हासिल किए। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला करने वाले बांग्लादेश ने दूसरे ओवर में ही अनामुल हक (11) का विकेट गंवा दिया जिन्हें सिराज ने पगबाधा किया। रोहित ने इससे एक गेंद पहले अनामुल का कैच टपकाया और उनके अंगूठे पर चोट लगने के कारण खून निकलने लगा जिससे वह पारी में आगे क्षेत्ररक्षण नहीं कर पाए। कप्तान लिटन दास (07) और नजमुल हुसैन शंटो (21) ने इसके बाद पारी को आगे बढ़ाया। सिराज ने पारी के 10वें ओवर में लिटन को बोल्ड करके उनकी पारी का अंत किया जब टीम का स्कोर 39 रन था।

    उमरान ने शाकिब अल हसन को अपने पहले ओवर में काफी परेशान किया और फिर अगले ओवर की पहली गेंद पर नजमुल को बोल्ड कर दिया। वाशिंगटन ने इसके बाद बांग्लादेश को जल्दी-जल्दी तीन झटके देकर उसके मध्यक्रम की रीढ़ तोड़ दी। शाकिब (08) उन गेंद को हवा में लहरा गई और धवन ने स्लिप से फाइन लेग की ओर भागते हुए कैच लपका। वाशिंगटन ने मुशफिकुर रहीम (12) और अफीफ हुसैन (00) को लगातार गेंदों पर आउट करके बांग्लादेश का स्कोर छह विकेट पर 69 रन किया।

    मेहदी हसन और महमूदुल्लाह ने इसके बाद 27 ओवर से अधिक समय तक भारतीय गेंदबाजों को सफलता से महरूम रखा और इस दौरान विकेट के चारों तरफ शॉट लगाए। उमरान ने 47वें ओवर की पहली गेंद पर महमूदुल्लाह को विकेटकीपर लोकेश राहुल के हाथों कैच कराके इस साझेदारी को तोड़ा। 

    मिराज ने शारदुल ठाकुर के पारी के अंतिम ओवर में दो छक्कों सहित 16 रन जोड़े और अंतिम गेंद पर एक रन के साथ अपने करियर का पहला शतक पूरा किया। वह आठवें नंबर या इससे निचले क्रम पर आकर एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में शतक जड़ने वाले सिर्फ दूसरे बल्लेबाज हैं। तीसरा वनडे शनिवार को चटगांव में खेला जाएगा।