Akshay Karnewar

    -विनय कुमार

    क्रिकेट के मैदान में गेंदबाजी के कई हुनरबाजों की घातक गेंदबाजी देखी गई हैं, लेकिन ‘सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी’ (Syed Mushtaq Ali Trophy 2021-22) में अजूबा देखने को मिला। ताज़ा टूर्नामेंट में विदर्भ टीम के बोलर अक्षय करनेवर (Akshay Karnewar) ने मणिपुर टीम के खिलाफ खेले गए एक मुकाबले में क्रिकेट के इतिहास में एक नया पन्ना जोड़ दिया। 4 नवंबर से 22 नवंबर तक चलने वाले इस डोमेस्टिक T20 टूर्नामेंट में विदर्भ (Vidarbha) की टीम अपने ग्रुप में 4 में से सभी 4 मैच जीतकर टॉप पर विराजमान है।  जबकि मणिपुर (Manipur) टीम के नाम अब तक सिर्फ एक ही जीत दर्ज़ है। ‘विदर्भ’ ने आज सोमवार, 8 नवंबर को ‘मणिपुर’ के खिलाफ (Vidarbha vs Manipur, T20 2021) खेले गए मैच को 167 रनों के बड़े अंतर से जीत गया। 

    इस मुकाबले में ‘विदर्भ’ (Vidarbha) टीम के घातक गेंदबाज अक्षय करनेवर (Akshay Karnewar) ने एक करिश्मा दिखाया जो विरले ही कभी किसी ने सोचा हो। उन्होंने अपने 4 ओवर के स्पेल में एक भी रन नहीं दिया और 2 विकेट भी चटकाए। गौरतलब है कि अक्षय करनेवर दोनों हाथों से स्पिन गेंदबाजी करने के हुनरबाज़ हैं। हालांकि, वे बैटिंग बाएं हाथ से करते हैं। उन्होंने T20 क्रिकेट में ऐसा कीर्तिमान बना दिया, जिसे शायद ही दुनिया में कभी कोई तोड़ सके, या शायद ही कोई ऐसा कारनामा कर सके। आज के मैच में ‘विदर्भ’ ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय किया था।

    पहले बल्लेबाजी करते हुए ‘विदर्भ’ ने ‘मणिपुर’ (Vidarbha vs Manipur T20, 2021) के गेंदबाजों की जमकर धुनाई की। ‘विदर्भ’ ने 20 ओवर में सिर्फ 4 विकेट के नुकसान पर 222 रनों का पहाड़ खड़ा कर दिया और मणिपुर को जीत के लिए 223 रनों का टारगेट दिया।

    जब मणिपुर की टीम टारगेट का पीछा करने बल्लेबाजी के लिए मैदान में उतरी, ‘विदर्भ’ टीम के गेंदबाज अक्षय करनेवर (Akshay Karnewar) ने अपने 4 ओवर के स्पेल में एक भी रन नहीं दिया और मणिपुर के दो बल्लेबाजों को चलता भी कर दिया।

    गौरतलब है कि, दोनों हाथों से बोलिंग करने वाले इस हुनरबाज़ स्पिन बोलर 2016 में आईपीएल की नीलामी में ‘रॉयल चैलेंजर बेंगलुरू’ (Royal Challengers Bengaluru RCB) ने खरीदा था, लेकिन उन्हें एक भी मुकाबले में खेलने का मौका नहीं दिया गया।

    अक्षय करनेवर (Akshay Karnewar) और विदर्भ टीम के अन्य गेंदबाजों की धारदार गेंदबाजी के सामने मणिपुर की टीम का किला सिर्फ 55 रन पर ढेर हो गया। और, विदर्भ की टीम ने इस मुकाबले को 167 रनों के बहुत बड़े अंतर से जीत लिया।