ashwin
File Photo

    विनय कुमार

    नयी दिल्ली. आखिर वो कौन सी बात है जिसकी वजह क्रिकेट के जानकार खूब ढूंढ रहे हैं, पर जवाब सीधा सपाट और परिणाम होती है सिर्फ हैरानगी। टीम इंडिया के अनुभवी ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को गेंदों में न तो हरभजन सिंह की गेंदों जैसा घुमाव है, और न ही ज्यादा वेरियेशन। फिर, वह क्या कारण है कि रविचंद्रन अश्विन ने अपने टेस्ट करियर में जबरदस्त गति से विकेट हासिल किए हैं। फिर, हरभजन सिंह जैसे महाघातक महारथी स्पिन गेंदबाज को एकदम साइडलाइन कर दिया गया। वो भी ऐसा किया कि अब लाख चाह लें हरभजन सिंह, टीम इंडिया में उनका लौटना लगभग नामुमकिन ही है।

    अब अगर रविचंद्रन अश्विन को बात करें तो, वे डोमेस्टिक ग्राउंड पर हमेशा ही गजब ढाते रहे हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में खेले जा रहे सीरीज के पहले टेस्ट के तीसरे दिन भी तब उन्होंने 3 विकेट उड़ा लिए। अक्षर पटेल (Axar Patel) ने भी पहली पारी में 3 विकेट हासिल किए।

    इस ताज़ा मैच के विकेट्स हासिल करने के साथ ही रविचंद्रन अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट के पूर्व दिग्गज गेंदबाजों के कीर्तिमानों पर निशाना साध लिया है। अगर मौका मिला तो बहुत जल्द कई कीर्तिमान ध्वस्त हो जाएंगे और कई नए रिकॉर्ड्स रचे जाएंगे। बीते शनिवार, यानी कल रविचंद्रन अश्विन ने 3 विकेट हासिल किए। और इन 3 विकेट्स के साथ ही उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट करियर के 80वें मैच में 416 विकेट्स पूरे कर लिए। अश्विन अब भारत के महान कप्तान और गेंदबाज कपिल देव (Kapil Dev) और हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) के रिकॉर्ड्स से दूर नहीं हैं।

    टेस्ट क्रिक्रेट में सबसे ज्यादा विकेट्स चटकाने वाले महान गेंदबाज की बात किए जाए, अनिल कुंबले (Anil Kumble) 619 विकेट के साथ सबसे ऊपर हैं। कपिल देव ने 434 और हरभजन सिंह ने  417 विकेट हासिल किए हैं। रिकॉर्ड्स बताते हैं कि रविचंद्रन अश्विन को हरभजन सिंह को पछाड़ने के लिए सिर्फ 2 विकेट चाहिए और कपिल देव का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए 19 विकेटों की जरूरत है। हो सकता है ये दोनों रिकॉर्ड वो तोड़ दें। लेकिन, अनिल कुंबले को पछाड़ने के लिए उन्हें काफी वक्त लगेगा। लेकिन, टीम इंडिया के इतिहास में दूसरा सबसे कामयाब गेंदबाज़ बनने की बात बहुत बड़ी कामयाबी होगी।

    अश्विन के करियर की महत्वपूर्ण बातें

    • 2016 –  ICC Cricketer of The Year
    • 2016-17 CEAT International Cricketer of The Year

    गौरतलब है कि रविचंद्रन अश्विन ने गेंदबाजी के अलावा बल्लेबाजी में भी अच्छा प्रदर्शन किया है। उनके बल्ले से 27.95 की औसत से रन बने हैं। यही नहीं टेस्ट क्रिकेट में उनके नाम 5 शतक और 11 अर्द्धशतक भी हैं। यानी, वो सिर्फ एक ऑफ़ स्पिनर स्पिन गेंदबाज नहीं, बल्कि एक बेहतरीन ऑल राउंडर भी हैं।