'I felt like I was the loneliest guy in the world' Virat Kohli opens up about battling depression, stresses on the need for professional help

    नई दिल्ली: विराट कोहली (Virat Kohli) ने आईसीसी टी-20 विश्वकप (ICC T20 World Cup)के बाद कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया है। कोहली के इस फैसले से उनके फैन्स चौंक गए हैं। हालांकि कहा जा रहा है कि उनका यह फैसला बल्ले से ले हासिल करने से जुड़ा हुआ है। ऐसे में वनडे में भी विराट को इसी तरह का सामना करना पड़ेगा। विराट ने साफ किया है कि वे अन्य दोनों फॉर्मेट में कप्तान बने रहेंगे।  

    ज्ञात हो कि विराट कोहली कब तक कप्तान रहेंगे यह कहना मुश्किल है। इसे लेकर कई तरह की खबरें हैं। कोहली साल 2023 में होने वाले वर्ल्डकप तक कप्तान रहेंगे या नहीं यह कहना अभी जल्दबाजी है। क्योंकि टीम इंडिया का जो कार्यक्रम है उसके अनुसार विश्वकप के अलावा उसे करीब 20 द्विपक्षीय टी20 मैच ही खेलने हैं। 

    दूसरी तरफ टीम इंडिया अगर यूएई में टी-20 विश्वकप में अच्छा प्रदर्शन नहीं करती है तो इसका खामियाजा विराट कोहली को उठाना पड़ सकता है। खराब प्रदर्शन के बाद हो सकता है बोर्ड उन्हें कप्तानी से हटा दे। विराट ने भले ही टी-20 कप्तानी से हटने के पीछे अपने ऊपर के दबाब को बताया है। लेकिन अगर आने वाले समय में बीसीसीआई उन्हें वनडे कप्तानी से हटाती है तो यह कोई बड़ी बात नहीं होगी।

    गौर हो कि टीम इंडिया के वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड के विरुद्ध हार के बाद से अटकलों का बाजार कई चीजों को लेकर गर्म हुआ था। कहा यह भी जा रहा है कि नई चयन समिति के सामने विराट कोहली को शिखर धवन को टीम में इंग्लैंड के खिलाफ हुई वनडे सीरीज में खिलाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी थी। सिलेक्टर्स चाहते थे कि किसी अन्य ओपनर को टीम में मौका दिया जाए लेकिन कोहली ने जोर देते हुए धवन के नाम की पैरवी की। हालांकि इन बातों को लेकर किसी तरह का कोई औपचारिक बयान सामने नहीं आया है। साथ ही एक्सपर्ट्स ऐसी खबरों को सिरे से खारिज कर रहे हैं।