England and pakistan PM imran Khan

    -विनय कुमार

    पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (Pakistan Cricket Board PCB) के लिये बीता सात दिन बहुत खराब रहा है। पाकिस्तान में इंटरनेशनल क्रिकेट की रौनक वापस लाने की कोशिशें लगातार फीकी पड़ती जा रही है। गौरतलब है कि पाकिस्तान ने बीते 2 साल में जिम्बाब्वे (Zimbabwe), बांग्लादेश (Bangladesh), श्रीलंका (Sri Lanka), साउथ अफ्रीका (South Africa) की टीमों की सफल मेजबानी की थी। लेकिन, बीते 16 सितंबर से न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम की टीम की मेजबानी करनी थी और अगले महीने ‘ICC T20 WORLD CUP TOURNAMENT, 2021’ से पहले इंग्लैंड की महिला और पुरुष टीमों की द्विपक्षीय सीरीज (Bilateral Series Pakistan vs England) का आयोजन करना था। न्यूजीलैंड की टीम 18 साल बाद पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज खेलने पाकिस्तान लैंड कर चुकी थी, लेकिन पाकिस्तान की मेज़बानी के अरमानों को उस वक्त तगड़ा झटका लगा, जब ‘न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड’ (New Zealand Cricket Board) ने सुरक्षा को खतरा का हवाला देकर अपनी टीम को वापस देश बुलाने का फैसला किया और पाकिस्तान के खिलाफ द्विपक्षीय सीरीज खेलने से इंकार कर दिया।

    पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के लिए पाकिस्तान में इंटरनेशनल क्रिकेट फिर से शुरू कराने की कोशिशों को लेकर यह तगड़ा झटका था। जिसे  लेकर पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कई धाकड़ खिलाड़ियों ने नाखुशी जताई थी। इसके बाद अब ‘इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड’ (England and Wales Cricket Board ECB) ने भी अगले महीने होने वाले पाकिस्तान के दौरे पर रिव्यू करने का फैसला किया। और काफी सोच- विचार करने के बाद सोमवार, 20 सितंबर को पाकिस्तान दौरे रद्द कर दिया।

    खिलाड़ियों की सेफ्टी सबसे महत्वपूर्ण

    ‘इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड’ (ECB) ने पाकिस्तान दौरे पर न जाने का निर्णय लेते हुए, आधिकारिक बयान जारी किया, जिसमें उसने ‘ICC T20 WORLD CUP TOURNAMENT, 2021’ की तैयारियों और खिलाड़ियों के मेंटल हेल्थ का हवाला देते हुए इस दौरे को सस्पेंड करने का निर्णय लिया है। उसने कहा कि इंग्लैंड की टीम 2022 में इस दौरे को फिर से आयोजित करने के बारे में विचार करेगी।

    ECB ने कहा कि पुरुषों के ‘फ्यूचर टूर प्रोग्राम’ (England Men’s Cricket Team Future Tour Program, 2022) 2022 के तहत इंग्लैंड क्रिकेट टीम पाकिस्तान का दौरा करने को लेकर काफी समय से सोच रखा है। हम इस साल ‘ICC T20 WORLD CUP TOURNAMENT, 2021’ से पहले अक्टूबर में पाकिस्तान के दौरे पर जाने के लिए सहमत थे, जहां हमारी पुरुष टीम (England Men’s Cricket Team) को 2 वार्म अप मैच खेलने थे, जबकि हमारी महिला टीम (England Women’s Cricket Team Pakistan Tour 2021) को यहां का (Pakistan) दौरा करना था।”

    एक्स्ट्रा प्रेशर देता पाकिस्तान का यह दौरा

    ‘England and Wales Cricket Board’ ने अपने बयान में आगे कहा, ECB ने इस सप्ताह के आखिरी में पाकिस्तान दौरे को लेकर पुनर्विचार किया और हम यह साफ कर रहे हैं कि बोर्ड  (ECB) ने फिलहाल महिला और पुरुष दोनों टीमों (England Men’s and Women’s Cricket Team) को दौरे पर नहीं भेजने का निर्णय लिया है। ECB के लिए उसके खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ के फिजिकल (England team players and support staff) और मेंटल हेल्थ को फिट रखना हमारी प्राथमिकता है। मौजूदा वक्त के मुश्किल हालातों के मद्देनजर हमारी यह प्राथमिकता और बढ़ जाती है।”

    ईसीबी ने आगे कहा कि हम जानते हैं कि मौजूदा समय में पाकिस्तान की यात्रा करने को लेकर कुछ चिंताये सामने आयी हैं और लंबे समय से बायोबबल का दबाव झेल रहे खिलाड़ियों के लिये इन परिस्थितियों में यात्रा करना अतिरिक्त दबाव बनायेगा।

    पाकिस्तान में खेलने से इंग्लैंड को लाभ नहीं, क्यों ?

    ECB ने अपने बयान में आगे कहा, “हमारा मानना है कि ‘ICC T20 WORLD CUP TOURNAMENT, 2021’ के मद्देनजर हमारी पुरुष टीम का पाकिस्तान में खेलना किसी भी प्रकार से फायदेमंद नहीं रहेगा, जहां (World Cup) में बेहतर प्रदर्शन करना हमारी प्राथमिकता है।”

    ECB ने PCB से माफी मांगते हुए कहा, “हमारा मानना है कि हमारा यह फैसला PCB की इंटरनेशनल क्रिकेट को अपने देश में फिर से शुरू कराने के प्रयासों के लिए बड़ा झटका है। PCB ने पिछले 2 समर सीजन के दौरान ECB का बढ़िया साथ दिया और क्रिकेट को शुरू करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। पाकिस्तान फिलहाल अपने देश में इंटरनेशनल क्रिकेट शुरू कराने के लिए बहुत मेहनत कर रहा है। हमारे निर्णय से पड़ने वाले असर के लिए हम क्षमा चाहते हैं और 2022 के ‘टूरिंग प्लान’ में शामिल महत्वपूर्ण टूर्नामेंट पर ध्यान देना चाहते हैं।