श्रीलंका का ‘वो’ महान बल्लेबाज भी खफा़ था मलिंगा से, आखिर क्यों ?

    -विनय कुमार

    अब इंटरनेशनल क्रिकेट मैचों में आपको श्रीलंका के महाघातक तेज़ गेंदबाज लसिथ मलिंगा (Lasith Malinga) की याॅर्कर का जादू और कहर नजर नहीं आएगा। क्योंकि, मलिंगा ने मंगलवार, 14 सितंबर को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी। 38 साल के लसिथ मलिंगा (Lasith Malinga) का करियर बेहद शानदार रहा है।

    अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में उन्होंने दुनिया के बड़े-बड़े नामचीन और धुरंधर बल्लेबाजों को अपनी घातक गेंदों के सामने घुटने टेकने पर मजबूर किया है। याॅर्कर गेंदबाज़ी का क्रेज सबसे ज्यादा लसिथ मलिंगा में ही नजर आया है, ये दुनिया भर में मौजूद उनके लाखों फैंस जानते हैं।

    लसिथ मलिंगा (Lasith Malinga) ऐसे तेज़ गेंदबाज रहे जो ओवर की 6 की 6 गेंदों को याॅर्कर फेंकने की काबिलियत रखते थे। और इसका नजराना ‘IPL T20 TOURNAMENT’ के मैचों में कई बार देखने को मिला। गौर करने वाली बात तो यह है कि मलिंगा की घातक यॉर्कर गेंदों से मैदान पर सिर्फ विरोधी टीम के बल्लेबाज ही नहीं, बल्कि श्रीलंका के बल्लेबाज भी परेशान थे और डरते थे।

    क्रिकेट की दुनिया में खिलाड़ियों की लोकप्रियता का आकाश इस बात की गवाह है कि लसिथ मलिंगा (Lasith Malinga) ने बहुत ही जल्दी ‘श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड’ (Sri Lanka Cricket Board) को अपना दीवाना बना लिया था। इसका नजराना उन्होंने 17 साल की उम्र में ‘First Class Cricket’ में डेब्यू करने के बाद दिखा दिया था। आज से करीब 20 साल पहले 2001 में लसिथ मलिंगा को नेट प्रैक्टिस के लिए श्रीलंका की टीम के साथ जोड़ा गया था।

    उस वक्त मलिंगा ने अपनी घातक तेज गेंदों से श्रीलंका के धुरंधर बल्लेबाजों को भी खूब परेशान किया था। यहां तक कि कई खिलाड़ियों ने उनकी गेंदबाजी में खेलने से भी इंकार कर दिया था। श्रीलंका के क्रिकेट के इतिहास के सबसे महान बल्लेबाजों में से एक अरविंद डी सिल्वा (Arvinda D’Silva) भी उनमें से एक थे। लसिथ मलिंगा के नाम 84 फर्स्ट क्लास मैचों में 257 विकेट (Lasith Malinga Wickets in First Class Cricket) दर्ज हैं। ‘लिस्ट-A क्रिकेट’ में उनके नाम खेले 291 मैचों में 446 विकेट हैं।

    दर्ज कर चुके हैं विशेष कीर्तिमान अपने नाम

    अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का इतिहास बताता है कि लसिथ मलिंगा ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी जोरदार धाक जमाई और हुए कई खास कीर्तिमान अपने नाम किए। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में 1 जुलाई 2004 को डेब्यू किया। और उस डेब्यू मैच में 6 विकेट लेकर टीम में अपनी जगह बना ली। इसके बाद मलिंगा पीछे मुड़कर नहीं देखे और न ही थामे। उन्होंने 30 टेस्ट क्रिकेट में 101 विकेट हासिल किए और अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में खेले 226 वनडे मैचों में 338 और अंतरराष्ट्रीय T20 cricket में खेले 83 मैचों में 107 विकेट हासिल किए।

    गौरतलब है कि लसिथ मलिंगा (Lasith Malinga Hat Tricks in ODI) वनडे क्रिकेट में 3 बार हैट्रिक करने वाले क्रिकेट की दुनिया के एकमात्र गेंदबाज हैं। मलिंगा ने 2007 के ‘ICC ODI WORLD CUP’ कप में साउथ अफ्रीका के खिलाफ (SL vs SA 2007 WC) वनडे करियर की पहली हैट्रिक बनाई थी।

    उसके बाद ‘ICC ODI WORLD CUP, 2011’ में केन्या के खिलाफ (Sri Lanka vs Kenya WC, 2011) दूसरी और तीसरी हैट्रिक 2012 में कोलंबो में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ (SL vs AUS ODI, 2012) खेले गए मैच में की थी। इसके अलावा, ‘IPL T20 TOURNAMENT’  में अब तक सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले बोलर भी हैं। IPL के अब तक के करियर में मलिंगा ने 122 मैचों में 170 विकेट चटकाए हैं।

    यही नहीं, क्रिकेट की दुनिया के इस महाघातक यॉर्कर किंग लसिथ मलिंगा (Lasith Malinga) ने 4 गेंदों में लगातार 4 विकेट भी चटकाए हैं। उन्होंने आज से करीब 14 साल पाए ‘ICC ODI WORLD CUP, 2007’ में साउथ अफ्रीका के खिलाफ (SL vs SA ODI World Cup, 2007) यह कारनामा किया था। उस मैच में एक समय ऐसा था जब साउथ अफ्रीका की टीम जीत के नजदीक थी और स्कोर 45.4 ओवर में 206/5 था। लेकिन, अगली 2 गेंदों में 2 विकेट चटकाकर लसिथ मलिंगा ने मैच में श्रीलंका की वापसी कराई थी। उसके बाद जब वे उस यादगार मैच के 47वें ओवर में फिर से बोलिंग करने आए, तो उन्होंने शुरुआती 2 गेंदों में और 2 विकेट उड़ा लिए थे।