racist-remarks-often-hurled-at-players-in-australia-and-south-africa-it-must-stop-gautam-gambhir
File Photo

    नई दिल्ली: भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने पाकिस्तान के खिलाफ टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में जीत के दौरान मोहम्मद हफीज की दो बार टप्पा खाने वाली गेंद पर छक्का मारने को लेकर आस्ट्रेलिया के बल्लेबाज डेविड वार्नर की आलोचना करते हुए कहा कि यह ‘खेल की भावना का बुरा प्रदर्शन’ था। लक्ष्य का पीछा करने के दौरान आठवें ओवर में हफीज की पहली गेंद उनके हाथ से फिसलकर दो बार टप्पा खाई, वार्नर ने कदमों का इस्तेमाल करते हुए गेंद तक पहुंचकर उसे डीप मिड-विकेट के ऊपर से दर्शकों के पास पहुंचा दिया।

    अंपायर ने इस गेंद को ‘नो बॉल’ करार दिया जिससे आस्ट्रेलिया को दो और रन (अगली गेंद पर एक रन) मिले। उस छक्के की बदौलत आस्ट्रेलिया को ओवर में 13 रन मिले। टीम ने 177 रन के लक्ष्य को एक ओवर शेष रहते पांच विकेट से हासिल कर लिया।  गंभीर ने भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को टैग करते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘‘  वार्नर द्वारा खेल की भावना का काफी बुरा प्रदर्शन, शर्मनाक। अश्विन इस पर आप क्या कहना चाहते है?”

    गंभीर के ट्वीट से लगा कि वह कहना चाहते है कि हफीज के हाथों से फिसल कर निकली गेंद को वार्नर को छोड़ देना चाहिये था। क्रिकेट में हालांकि ऐसा कोई भी नियम नहीं है जिसमें ऐसी गेंद को ‘डेड’ माना जाये।  अश्विन को अतीत में इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान गेंदबाजी छोर पर जोस बटलर को रन आउट करने को खेल भावना के खिलाफ बताते हुई आलोचना झेलनी पड़ी है।  

    गंभीर ट्वीट के जवाब में किसी ने लिखा, ‘‘ आपका नजरिया सही नहीं है।”  इस पर अश्विन ने टिप्पणी कि , ‘‘उनका मानना है कि अगर वह सही था तो यह भी सही है। अगर वह गलत था तो यह भी गलत है। निष्पक्ष मूल्यांकन?” भारत के इस अनुभवी स्पिनर ने वार्नर को टैग करते हुए लिखा, ‘‘ वार्नर ने अद्भुत शॉट खेला था। शानदार शॉट।” वार्नर ने इस मैच में 30 गेंद में तीन चौके और इतने ही छक्के की मदद से  49 रन की पारी खेली। मैथ्यू वेड ने 19वें ओवर में लगातार तीन छक्के लगाकर टीम को पांच विकेट दिला दी। (एजेंसी)