RAVI-SHAHSTRI

    विनय कुमार

    नयी दिल्ली. Team India के कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने पहले ही ये कह चुके हैं कि ICC T20 WORLD CUP TOURNAMENT, 2021 के बाद वो अपने पद से हट जाएंगे। ऐसे में कुछ प्रमुख नामों को लेकर विचार विमर्श हुआ, जिनमें से कोई एक टीम इंडिया के कोच बन सकते हैं। चीफ कोच के तौर पर उनका कार्यकाल नवंबर में समाप्त हो जाएगा और अब BCCI पुरुष टीम के लिए एक नए हेड कोच के चुनाव के लिए अपनी सोच पर लगाम भी लगा रहा है।

    क्रिकेट की दुनिया की महान हस्तियों में गिने जाने वाले रिकी पोंटिंग (Ricky Ponting) और महेला जयवर्धने (Mahela Jayawardene) जैसे कुछ हाई-प्रोफाइल नाम Ravi Shastri की जगह लेने के लिए सामने  आ रहे हैं। हालांकि, रिपोर्ट्स के मुताबिक, ऐसा माना जा रहा है कि BCCI इस बेहद महत्वपूर्ण जिम्मेदारी के लिए किसी भारतीय महारथी की तलाश कर रहा है। विदेशी की बजाय भारतीय कोच को अहमियत दी जाएगी, ऐसी बात BCCI के सूत्र बता रहे हैं।

    BCCI से जुड़े एक सूत्र ने से निकली खबर के मुताबिक, “टीम इंडिया का हेड कोच एक भारतीय ही होगा। IPL के विपरीत, भारतीय कोचिंग कॉन्ट्रैक्ट साल भर की है, और एक भारतीय कोच के साथ मैन-मैनेजमेंट बहुत बढ़िया काम करता है।” 

    यह भी कहा जा रहा है कि रवि शास्त्री (Ravi Shastri Coach Team India) के साथ गेंदबाजी कोच भरत अरुण (Bharat Arun), फील्डिंग कोच आर. श्रीधर (R. Sridhar) भी नए उम्मीदवारों के लिए रास्ता बना रहे हैं। हालांकि, टीम इंडिया के साथ बैटिंग कोच विक्रम राठौर (Vikram Rathore) के भविष्य के बारे में कोई अपडेट खबर नहीं आई है।

    इस खबर के बाद कि टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री अपने कॉन्ट्रैक्ट को नहीं बढ़ाएंगे। अटकलें तो ये भी उड़ी थीं कि, टीम इंडिया के  पूर्व कोच अनिल कुंबले (Anil Kumble) को वापस इस जिम्मेदारी से जोड़ना चाहता है। गौरतलब है कि, टीम इंडिया के साथ अनिल कुंबले (Anil Kumble) का कार्यकाल 2017 में समाप्त हो गया था। माना ये जाता है कि टीम इंडिया के अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav y) उन्हें भारतीय मैनेजमेंट में वापस लाना चाहते थे, लेकिन BCCI के अन्य मेंबर्स ने इस बात को हरी झंडी नहीं दी। 

    खबरें तो ये भी उड़ रही हैं कि BCCI ने टीम इंडिया के चीफ कोच के लिए राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) से भी चर्चा की है। लेकिन, द्रविड़ जूनियर क्रिकेट और बेंगलुरू स्थित ‘नेशनल क्रिक्रेट एकेडमी’ नहीं छोड़ना चाहते हैं। BCCI से जुड़े एक सूत्र ने कहा, “हमने भारत के खिलाड़ियों के साथ चर्चा की है। हालांकि, उनके सुझाव मैंडेटरी नहीं हैं, लेकिन ड्रेसिंग रूम में असामान्य स्थिति की आशंका को जन्म देने का कोई अर्थ नहीं है।”