ऑस्ट्रेलिया का उभरता सितारा जिसने बेहद कम समय में क्रिकेट जगत में बनाई अपनी अलग पहचान

    नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज बिली स्टेनलेक (Billy Stanlake Birthday) का आज यानी 4 नवंबर (4 November) को जन्मदिन है। इस साल वह अपना 27वां जन्मदिन मना रहे हैं। क्वींसलैंड के रहने वाले बिली स्टेनलेक दाएं हाथ के तेज गेंदबाज हैं, जिन्होंने बहुत कम समय में अपनी प्रतिभा की झलक दिखाई है। स्टेनलेक की लंबाई 204 सेमी है और वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया का प्रतिनिधित्व करने वाले सबसे लंबे खिलाड़ी भी हैं। स्टेनलेक ने जनवरी 2017 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था। उन्होंने अब तक वनडे और टी20ई में ऑस्ट्रेलिया का प्रतिनिधित्व किया है। 

    बिली स्टेनलेक का करियर काफी हद तक चोटों से प्रभावित हुआ है। जिसकी वजह से उन्हें साइड में अपनी जगह पक्की करने के लिए प्रतिबंधित कर दिया था। हालांकि, बिली स्टेनलेक ने कई मैचों में शानदार प्रदर्शन किया है। बिली स्टेनलेक ने इंडियन प्रीमियर लीग और बिग बैश लीग जैसी प्रमुख टी20 लीगों में भी भाग लिया है। तो चलिए आज बात करते हैं स्टेनलेक के गेंदबाजी कौशल के बारे में…

    4/8 हरारे में पाकिस्तान के खिलाफ 

    स्टेनलेक ने जिम्बाब्वे में T20I ट्राई सीरीज के दौरान मेन इन ग्रीन के खिलाफ एक शानदार स्पेल फेंका था। पहले गेंदबाजी करते हुए, स्टेनलेक ने पाकिस्तानी बल्लेबाज पर भारी पड़े और शीर्ष चार बल्लेबाजों को शानदार गेंदबाजी कर पवेलियन वापस भेज दिया। नतीजतन, सरफराज अहमद की अगुवाई वाली टीम पहली पारी में केवल 116 रन ही बना सकी। जिसे ऑस्ट्रेलिया ने नौ विकेट रहते हुए हासिल कर लिया और मैच को अपने कब्जे में कर लिया। 

    3/35 मैनचेस्टर में इंग्लैंड के खिलाफ 

    ऑस्ट्रेलिया के 2018 इंग्लैंड दौरे के पांचवें वनडे में स्टेनलेक ने काफी शानदार गेंदबाजी की। इस मैच में स्टेनलेक ने इंग्लिश बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो और जो रूट को आउट किया था। इस मैच में जोस बटलर इंग्लैंड के बचाव में आए थे और मेजबान टीम को एक विकेट से जीत दिलाई थी।

    4/37 सिडनी में पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 

    2015 के मेटाडोर बीबीक्यू वन डे कप में क्वींसलैंड के लिए खेलते हुए, स्टेनलेक ने पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक शानदार स्पेल बनाया। इस पेसर ने सिडनी के विकेट का सही इस्तेमाल किया और विकेट पहले ही ले लिए। स्टेनलेक ने डेथ ओवरों में भी अच्छा प्रदर्शन किया और चार विकेट लेकर प्रतिद्वंद्वी को सिर्फ 240 रन पर रोक दिया। हालांकि, क्वींसलैंड को उनके बल्लेबाजों ने निराश किया और 37 रन से मैच हार गए।