IND VS PAK Test Series : Test series between India and Pakistan will be played in Australia
File Photo

    -विनय कुमार

    चंद दिनों पहले ही आईसीसी ने अगले वर्ल्ड कप के साथ-साथ ‘ICC Champions Trophy’ के आयोजन को लेकर भी एलान किया था। अगला चैंपियंस ट्रॉफी पाकिस्तान में खेला जाएगा। पाकिस्तान (Pakistan) को 2025 के चैंपियंस ट्रॉफी (Champions Trophy) की मेजबानी बख्शने के बाद ICC का मानना है कि एक दशक से ज्यादा वक्त तक पाकिस्तान में ज्यादातर देशों के दौरे नहीं होने और वहां खेलने को लेकर किए गए एतराज़ के बावजूद अब दुनिया के टीमों को इस टूर्नामेंट में शामिल होने में शायद कोई दिक्कत नहीं होगी। 

    ICC ने पिछले हफ़्ते पाकिस्तान को 2025 चैंपियंस ट्रॉफी की मेजबानी करने की घोषणा की थी। ज़ाहिर है,  इससे दो दशक से ज्यादा वक्त के बाद पाकिस्तान में बड़े टूर्नामेंट की वापसी होगी। गौरतलब है कि, करीब 25 साल पहले पाकिस्तान ने आईसीसी इवेंट ICC ODI World Cup, 1992 की मेजबानी की थी। उस वर्ल्ड कप में भारत (India) और श्रीलंका (Sri Lanka) भी को-होस्ट थे। आपको याद दिला दें की पाकिस्तान के दौरे पर गई श्रीलंका की टीम की बस पर 2009 में लाहौर में हुए आतंकवादी हमले के बाद दुनिया के ज्यादातर देशों ने पाकिस्तान का दौरा करने से मना किया।

    ICC के अध्यक्ष ग्रेग बार्कले (Greg Barclay) ने प्रेस से अपनी बातचीत में कहा, ‘‘इसका जवाब हां है। हम अब तक जो देख रहे हैं, उसके मुताबिक, बिल्कुल हां (टीमें पाकिस्तान का दौरा करेंगी)।” उन्होंने कहा, ” ICC Cricket Event का  आयोजन कई साल बाद पाकिस्तान में होगा।” 

    गौरतलब है कि इस साल आईसीसी T20 वर्ल्ड कप से पहले सितंबर में न्यूजीलैंड  और इंग्लैंड की टीम ने सुरक्षा मामलों के मद्देनजर पाकिस्तान की ज़मीन पर खेलने से इंकार कर दिया था। न्यूज़ीलैंड की टीम तो पाकिस्तान पहुंच चुकी थी। लेकिन, उल्टे पांव लौट गई थी।

    ग्रेग बार्कले ने आगे कहा कि अगर ICC को इस बात का एहसास भी होता कि पाकिस्तान सफलतापूर्वक इसका (ICC Champions Trophy, 2025) आयोजन नहीं कर पाएगा, तो उसे इस टूर्नामेंट की मेजबानी नहीं दी जाती। हमें पाकिस्तान की मेजबानी पर यकीन नहीं होता तो हम इस आयोजन का अधिकार उसे नहीं देते।” 

    अब गौर करने वाली बात ये भी है कि इस टूर्नामेंट में भारत हिस्सा लेगा, या नहीं, इस बात पर अभी पूरी तरह संदेह की स्थिति बनी हुई है। क्योंकि, पाकिस्तान की तरफ से भारत में आतंकवादी हमलों के बाद दोनों देशों के राजनीतिक रिश्तों में खटास बरकरार है। आपको याद दिला दें कि दुश्मन देश पाकिस्तान के साथ 2012 के बाद से लेकर अब तक एक भी द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेला गया है।

    केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने पिछले हफ्ते ही कहा था कि ‘ICC Champions Trophy’ में भारत हिस्सा लेगा या नहीं, इसका फैसला वक्त आने पर किया जाएगा, क्योंकि अंतरराष्ट्रीय टीमों के लिए पड़ोसी देश का दौरा करने के लिए अभी भी सुरक्षा के मामले बड़ी वजह हैं। हालांकि, आईसीसी के अध्यक्ष ग्रेग बार्कले ने इस मामले को चुनौतीपूर्ण माना और कहा कि हो सकता है आने वाले दिनों में क्रिकेट के जरिए दोनों देशों के रिश्तों में  सुधार आए।

    बहरहाल, हालात बताते हैं कि मोदी सरकार के राष्ट्रवाद राजनीति के मद्देनजर लगता नहीं है कि भारत की टीम इस टूर्नामेंट के लिए पाकिस्तान का दौरा करेगी।