रविचंद्रन अश्विन के टारगेट पर हरभजन सिंह, न्यूज़ीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में रच सकते हैं ‘यह’ इतिहास

    विनय कुमार

    भारत के दौरे पर आई न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम (New Zealand National Cricket Team) के साथ द्विपक्षीय सीरीज के 3 मैचों की T20 श्रृंखला में भारत ने न्यूजीलैंड को 3-0 से हराकर क्लीन स्वीप किया। जिसके बाद अब टीम इंडिया की नजर 2 मैचों की टेस्ट सीरीज (India vs New Zealand Test Series, 2021) पर कब्ज़ा जमाने की है।

    न्यूज़ीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला गुरुवार, 25 नवंबर से 29 नवंबर के बीच कानपुर के ग्रीन पार्क इंटरनेशनल स्टेडियम (Green Park International Stadium) में खेला जाएगा। इस मैच में भारतीय टीम की कप्तानी अजिंक्य रहाणे  (Ajinkya Rahane) करेंगे। और, दूसरा टेस्ट मैच 3 दिसंबर से 7 दिसंबर के बीच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम (Wankhede Stadium IND vs NZ Test Match, 2021) में खेला जाएगा। मुंबई टेस्ट में टेस्ट टीम के रेगुलर कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli Captain Indian Cricket Team) ही कमान संभालेंगे।  पहले टेस्ट के दौरान उन्हें आराम दिया गया है।

    गौरतलब है कि, 25 नवंबर से आरंभ हो रही टेस्ट सीरीज में भारत के 35 वर्षीय अनुभवी ऑफ़ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin off-spinner) अगर प्लेइंग इलेवन में शामिल किए गए, तो वे एक खास उपलब्धि हासिल कर सकते हैं। इस समय अंतरराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट चटकाने वाले चौथे भारतीय खिलाड़ी हैं।

    न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले जानें वाले इस ताज़ा सीरीज के 2 मैचों में अगर वे 5 विकेट चटकाने में सफल रहे, तो वह टेस्ट क्रिकेट में किसी भारतीय गेंदबाज द्वारा टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने के मामले में तीसरे पायदान पर पहुंच जाएंगे।  

    अंतरराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट का इतिहास बताता है कि इस समय सबसे ज्यादा विकेट चटकाने के मामले में  स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) तीसरे पायदान पर हैं। आंकड़े गवाही देते हैं कि हरभजन सिंह ने अपने अंतरराष्ट्रीय टेस्ट करियर में अब तक खेले 103 टेस्ट मैचों की 190 पारियों में 32.5 की औसत से 417 विकेट हासिल किए हैं। वहीं, रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने अब तक खेले 79 टेस्ट मैचों की 148 पारियों में 24.6 की औसत से 413 विकेट हासिल किए हैं।

    लेकिन, इस मामले में टॉप पर हैं टीम इंडिया के महान स्पिन गेंदबाज अनिल कुंबले (Anil Kumble), जिन्होंने अपने करियर में खेले कुल 132 टेस्ट मैचों की 236 पारियों में 29.6 की औसत से 619 विकेट हासिल किए। उनके बाद, दूसरे पायदान पर हैं टीम इंडिया के पूर्व कप्तान कपिल देव (Kapil Dev)। ‘हरियाणा हरिकेन’ (Haryana Hurricane) के नाम से मशहूर कपिल देव ने अपने करियर में खेले कुल 131 टेस्ट मैचों की 227 पारियों में 29.6 की औसत से 434 विकेट हासिल किए हैं। बहरहाल, अब देखना दिलचस्प होगा, अगर रविचंद्रन अश्विन 5 विकेट हासिल कर लेते हैं, तो वे तीसरे पायदान पर काबिज हो जाएंगे।