आज है भारत के पूर्व हॉकी कप्तान ‘गोल्डन बॉय’ दिलीप टिर्की का जन्मदिन, जानें उनके बारें में कुछ रोचक बातें

    नई दिल्ली: भारत के हॉकी खेल क्षेत्र में इतिहास रचने वाले एक महान खिलाड़ी दिलीप टिर्की का आज जन्मदिन है। आपको बता दें कि दिलीप टिर्की को हिंदुस्तानी हॉकी का गोल्डन बॉय भी कहा जाता है। इतना ही दिलीप टिर्की हॉकी खेलने वाले कई खिलाडियों के लिए आदर्श भी है।  भारतीय टीम के कप्तान होने के सारे गुण इनमें मौजूद थे। 

    संयम, धैर्य और अनुशासन से खेलने वाले ये श्रेष्ठ खिलाड़ी हैं । इनकी सफलता की कहानी हम सभी के लिए एक प्रेरणा है। आज इनके जन्मदिवस के अवसर पर हम इनसे जुडी कुछ खास बातें आपको बताने जा रहे है। आइए जानते है…. 

    इनकी कहानी एक निर्धन परिवार से भारतीय हॉकी टीम के कप्तानी तक पहुंचाने वाले ऐसे सफर की कहानी है, जो इन्हें मुम्बइया फिल्म की कहानी का हीरो बनाती है । दिलीप टिर्की भारत के मध्य प्रान्त में एक निर्धन, आदिवासी परिवार में जन्मे हैं । इनका जन्म सुन्दरगढ़ जिले के सोनामरा नामक गांव में हुआ था । 

    इनके पिता विन्सेंट रिजर्व पुलिस बल में एक सिपाही हैं, जो वक्त मिलते ही अपने साथ रिटक लेकर खेलने निकल पड़ते थे ।यहीं से टिकी का लगाव स्टिक से इतना बढ़ा कि इन्हें पढ़ाई छोड़कर हॉकी ही रास आयी ।

    इनकी प्रेरणा इनके पिता तथा टी॰वी॰ में दिखाये जाने वाले मैच रहे है । जब इन्होंने पहली बार टी॰वी॰ पर हॉकी मैच देखा, जिसमें भारत की जीत हुई थी, वह मैच इनके जेहन पर छाया रहा । खिलाड़ी बनने की चाह में इन्होंने 1987 की प्रतिभा खोज योजना में भाग लिया, किन्तु इनका चयन नहीं हो पाया।