hockey

    नयी दिल्ली. एक बड़ी खबर के अनुसार भारतीय महिला हॉकी टीम (Indian Women Hockey Team) टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics 2020) कांस्य पदक के मुकाबले में ब्रिटेन से 3 -4 से हारी । जी हाँ भारतीय महिला टीम ब्रॉन्ज मेडल (Bronze Medal) आज अपने नाम नहीं कर पाई। ब्रिटेन (Graet Britain) ने इस महत्वपूर्ण मैच को 4-3 से अपने नाम किया है। भारत हालांकि टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रचने में कामयाब रहा है।

    आज  2016 रियो ओलंपिक की स्वर्ण पदक विजेता ब्रिटेन को हरा नहीं सकी जिससे कांस्य के करीब आकर चूक गई । इससे एक दिन पहले भारतीय पुरूष टीम ने जर्मनी को 5 . 4 से हराकर 41 साल बाद कांस्य पदक जीता था । भारतीय महिला टीम ने पांच मिनट के भीतर तीन गोल किये । गुरजीत कौर ने 25वें और 26वें मिनट में जबकि वंदना कटारिया ने 29वें मिनट में गोल दागे । ब्रिटेन के लिये एलेना रायेर ने 16वें, साारा रॉबर्टसन ने 24वें, कप्तान होली पीयर्ने वेब ने 35वें और ग्रेस बाल्डसन ने 48वें मिनट में गोल दागे । 

    इसके साथ ही आज भारतीय महिला हॉकी टीम ने टोक्यो ओलंपिक में एक अलहदा इतिहास रचा है। एक तरफ आज भारतीय महिला हॉकी टीम पहली बार ब्रॉन्ज मेडल के लिए फाइट कर रही थी। वहीं ग्रुप स्टेज के आखिरी दो मुकाबलों में भारत ने शानदार वापसी करते हुए अगले राउंड में अपने लिए जगह बनाई थी। हालाँकि ब्रिटेन के खिलाफ भी दो गोल से पिछड़ने के बावजूद भारत वापसी करने में जरुर कामयाब हो गया था। 

    वहीं आखिरी दो क्वार्टर हालांकि भारत के लिए अच्छे नहीं रहे और इसी का खामियाजा भुगतना पड़ा। भारत ने मैच को एक गोल के अंतर से गंवाया। अब अगले ओलंपिक खेलों में हम फैंस को भारतीय महिला हॉकी टीम से और ज्यादा बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद जरुर से होगी।

    गौरतलब है कि टोक्यो ओलंपिक 2020 (Tokyo olympics) का आज 15वां दिन है। आज भारत की महिला हॉकी टीम आज कांस्य पदक के लिए मैदान में उतरी थी। इसके साथ ही रेसलर बजंरग पुनिया भी आज अपने अभियान की शुरुआत करेंगे। वह भी पदक के दावेदार हैं। पता हो कि भारत के खाते में अब तक 5 मेडल आ चुके हैं।