Image: ANI/Twitter
Image: ANI/Twitter

    नई दिल्ली: टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics 2020) में भारत के लिए आज का दिन अच्छा साबित नहीं हो रहा है। लगातार भारत को आज निराशा ही हाथ आ रही है। भारत की एक और आस टूट चुकी है। राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को अपना आदर्श मानने वाले जी. साथियान (G. Sathiyan) को दूसरे राउंड में हार का सामना करना पड़ा है। उनका मुकाबला हांगकांग के टेबल टेनिस प्लेयर से था। जहां उन्हें करारी हार का सामना करना पड़ा। 7 गेम तक चले मुकाबले में साथियान को 3-4 से हार मिली है। 

    इस मुकाबले की शुरुआत में जी। साथियान ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया, उन्होंने पहले 4 गेम में 3-1 की लीड बना रखी थी। जिसके बाद उनकी जीत पक्की नज़र आ रही थी, लेकिन अचानक से पूरा गेम पलट गया। भारत के जी। साथियान की इस गेम से पकड़ अचानक से ही ढीली पड़ने लगी और हांगकांग के लैम ने अगले तीनों गेम जीतकर साथियान को हरा डाला। 

    टेबल टेनिस में टूटी एक उम्मीद

    टेबल टेनिस के मेंस सिंगल्स में भारत के पदक की एक उम्मीद टूट चुकी है। साथियान ने पहला गेम 11-7 से जीता, तो दूसरा गेम 7-11 से हार भी गए। वहीं तीसरे और चौथे गेम में साथियान ने 11-4, 11-5 से जीत दर्ज की। लेकिन, अचानक फिर लैम से वह अगले 3 मैच 9-11, 10-12 और 6-11 से हार गए। साथियान का जीता हुआ मैच गंवाने के बाद पूरा भारत बहुत निराश है। 

    राहुल द्रविड़ को मानते हैं आदर्श 

    जी. साथियान को राहुल द्रविड़ काफी पसंद हैं। वह उन्हें अपना आदर्श मानते हैं। उनका मानना है कि, उन्होंने द्रविड़ से काफी कुछ सीखा है। उन्होंने द्रविड़ के खेल को काफी फॉलो किया है। साल 2019 में टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में जी। साथियान ने बताया था कि, “द्रविड़ ने उनसे कहा था कि अगर हारना भी है तो बेहतर तरीके से लड़कर हारो। मैच के बाद तुम्हें ये पता होना चाहिए कि क्या गलती हुई। तुम एक मैच हार सकते हो लेकिन अगले मैच में जोरदार वापसी पर फोकस होना चाहिए।” साथियान के साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ। वह मैच हारे ज़रूर लेकिन उनका मैच काफी रोमांचक और काटे के टक्कर का हुआ है।