विजेंदर सिंह: बॉक्सिंग का वो चैंपियन जिसने भारत को दिलाया पहला ओलंपिक मेडल, लग चूका है ड्रग्स लेने का आरोप

    नई दिल्ली: भारत को बॉक्सिंग चैंपियन विजेंदर सिंह (Vijender Singh Birthday) का आज यानी 29 अक्टूबर को जन्मदिन है। इस साल वह अपना 36वां जन्मदिन मना रहे हैं। उन्हें ‘किंग ऑफ द रिंग’ (King Of The Ring) भी कहा जाता है। वह भारत के एक बेहतरीन बॉक्सर (boxer) हैं, जिन्होंने ओलंपिक में भारत को मेडल (Olympic Medal) भी दिलवाया है। विजेंदर सिंह का जन्म आज ही के दिन साल 1985 को हरियाणा (Haryana) के भिवानी जिले में हुआ था। विजेंदर के पिता महिपाल सिंह बेनीवाल हरियाणा रोडवेज में बस ड्राइवर हैं और उनकी मां एक गृहणी हैं। 

    ओलंपिक पदक जीतने वाले पहले भारतीय मुक्केबाज

    2008 बीजिंग ओलंपिक में विजेंदर सिंह ने 75 किग्रा वर्ग के क्वार्टर फाइनल में इक्‍वाडोर के कार्लोस गोन गोरा को 9-4 से हराकर ओलंपिक पदक सुनिश्चित किया था। क्यूबा के एमिलियो कोरिया से सेमीफाइनल में 5-8 से हारने के बाद विजेंदर को कांस्य पदक से संतुष्ट होना पड़ा। वह ओलंपिक में पदक जीतने वाले पहले भारतीय मुक्केबाज हैं। 

    बिग बॉस को बताया था बकवास शो 

    टीवी का मशहूर रिएलिटी शो बिग बॉस में विजेंद्र के हिस्सा लेने की अफवाहें उड़ी थी। उन अफवाहों को जवाब देते हुए विजेंद्र ने फेसबुक पर लिखा था कि, वह बिग बॉस-6 में नहीं आ रहे हैं, यह सब बस कोरी अफवाह है। वह इस तरह के बकवास शो का हिस्सा कभी नहीं बन सकते हैं। जो लोग इस तरह की खबर उड़ा रहे हैं उनका भगवान ही मालिक है।

    आर्मी अफसर बन सकते थे 

    विजेंदर सिंह के बड़े भाई मनोज पूर्व मुक्केबाज हैं, लेकिन उन्होंने कुछ समय बाद आर्मी ज्वाइन कर लिया था। विजेंदर ने कहा था कि वह भी आर्मी ज्वाइन कर लेते अपने बड़े भाई की तरह। वह भी भारत की सेवा करना चाहते थे। अगर खेल में कुछ अच्छा नहीं कर पाते तो। हालांकि, खेल में उनका प्रदर्शन बहुत शानदार रहा है। वह वर्ल्ड क्लास बॉक्सर माने जाते हैं। 

    ड्रग्स केस में फंसे 

    साल 2013 में विजेंदर के करियर में सबसे बड़ा मोड़ आया था। पंजाब पुलिस ने उन पर एनआरआई से कई बार ड्रग्स खरीदने का आरोप लगाया था। इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल भी हुए थे। लेकिन, वह हमेशा इस बात को नकारते रहे। नाडा द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद उन्हें छोड़ दिया गया। नाडा की जांच में पाया गया कि विजेंदर ने ड्रग्स नहीं लिया है।