PV Sindhu in Tokyo

    टोक्यो/नई दिल्ली. भारत स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु (PV Sindhu) ने टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics 2020) में चीन की शटलर ही बिंग जिओ (He Bing Jiao) को 2-0 से हराकर इतिहास रच दिया है। सिंधु ने देश के लिए दूसरा ब्रॉन्ज मेडल जीता है। सिं अन्य खेल धु ने चीन की शटलर ही बिंग जिओ (He Bing Jiao) को पहले सेट में 21-13 और दूसरा सेट में 21-15 करारी शिकस्त दी। जिसके बाद सिंधु काफी खुश नजर आई। हालांकि इस दौरान उन्होंने एक सवाल किया कि, क्या मुझे खुशी होनी चाहिए कि मैंने कांस्य जीता या दुखी होना चाहिए कि मैंने फाइनल में खेलने का अवसर खो दिया?

    पीवी सिंधु ने अपने बयान में कहा कि, “इतने सालों तक कड़ी मेहनत की। मुझे लगता है कि मैंने वास्तव में अच्छा किया है। मेरे अंदर बहुत सारी भावनाएं चल रही थीं – क्या मुझे खुशी होनी चाहिए कि मैंने कांस्य जीता या दुखी होना चाहिए कि मैंने फाइनल में खेलने का अवसर खो दिया?

    सिंधु ने आगे कहा कि, “मेरे परिवार ने मेरे लिए कड़ी मेहनत की और बहुत प्रयास किया इसलिए मैं बहुत आभारी हूं। भारतीय प्रशंसकों ने मुझे अपना प्यार और समर्थन दिखाया और मैं उनमें से प्रत्येक का बहुत आभारी हूं। वास्तव में लंबी रैलियां थीं लेकिन मुझे धैर्य और शांत रहना था। आगे बढ़ने के बावजूद मैंने आराम नहीं किया।”

    वहीं सिंधु के पिता पीवी रमना ने कहा कि, “मैं बहुत खुश हूं। दो ओलंपिक में दो मेडल जीतना किसी भी खिलाड़ी के लिए आसान काम नहीं है। मैंने कल कहा था कि हार गई, कोई परेशानी नहीं है। आज तुम जीत जाओगी और अगर तुम जीतोगी तो ये रिकॉर्ड होगा।”

    उन्होंने सिंधु के कोच को धन्यवाद देते हुए कहा कि, “मैं (सिंधु के कोच) को धन्यवाद दूंगा जिन्होंने काफी दर्द सहा। इसके अलावा, GOI, BAI, OGQ, समर्थक और प्रायोजक। सभी ने उन्हें पूरा प्रोत्साहन दिया है। मैं उसे प्रोत्साहित करने के लिए मीडियाकर्मियों का आभारी हूं।”

    उन्होंने आगे कहा कि, मुझे लगता है कि वह 3 अगस्त को भारत आ रही है। मैं दिल्ली जाने की योजना बना रहा हूं। हमें ओलंपिक में देश के लिए ज्यादा से ज्यादा मेडल लाने हैं। पीएम ने उनका हौसला बढ़ाया और सिंधु से कहा कि हम टोक्यो से लौटने के बाद साथ में आइसक्रीम खाएंगे। अब पीएम के साथ आइसक्रीम खाएंगी।

    सिंधु की मां पी विजया ने कहा कि, “हम बहुत खुश हैं। उसने दो पदक जीते, रियो ओलंपिक में एक रजत और टोक्यो में एक कांस्य। हम जरूर जश्न मनाएंगे। वह कल थोड़ी परेशान थी। हमने बस उसे आराम करने और अच्छा खेलने के लिए कहा।”