पीवी सिंधु (Photo Credits-ANI Twitter)
पीवी सिंधु (Photo Credits-ANI Twitter)

    नई दिल्ली: टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics 2020) में भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने इतिहास रच दिया है। इसके साथ ही सिंधु ओलंपिक खेलो में दो मेडल जीतने वाली पहली भारतीय प्लेयर हैं। पीवी सिंधु (PV Sindhu) ने ब्रॉन्ज मेडल मैच (Bronze Medal Match) में चीन की जियाओ बिंग हे को हराया है। उन्होंने जियाओ को 52 मिनट में 21-13, 21-15 से शिकस्त दी। इसके साथ ही सेमीफाइनल मैच में हार के बाद उनके दिमाग में क्या चल रहा था सहित कई चीजों के बारे में उन्होने जानकारी दी है। 

    पीवी सिंधु ने कहा कि सेमीफाइनल खत्म होने के बाद मैं काफी उदास थी। मेरे अंदर कई तरह की भावनाएं चल रही थीं कि क्या मुझे दूसरा मौका मिलने के लिए खुश होना चाहिए या सेमीफाइनल हारने के लिए दुखी। मैं इस माइंडसेट के साथ खेली कि मुझे अपना बेस्ट करना है।

    सेमीफाइनल मुकाबले में हार के बाद पीवी सिंधु थी काफी उदास-

    भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने कहा कि मैं बहुत खुश हूं, देश के लिए मेडल जीतना गर्व का पल है। पहले मैंने 2016 में मेडल जीता और अब टोक्यो ओलंपिक में, मैं मेडल जीतने के लिए बहुत खुश हूं। इससे पहले सिंधु ने साल 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीता था। टोक्यो ओलंपिक में सिंधु को सेमीफाइनल मुकाबले में चीनी ताइपे की ताइजु यिंग के विरुद्ध 21-18, 21-13 से हार का सामना करना पड़ा था।