saurabh

    तोक्यो. भारत (India) की पदक उम्मीद निशानेबाज सौरभ चौधरी (Saurabh Chaudhary) तोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics 2020) की दस मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा के क्वालीफिकेशन दौर में अव्वल रहने के बाद उस फॉर्म को फाइनल में नहीं दोहरा सके और निराशाजनक सातवें स्थान पर रहे । चौधरी ने फाइनल में 137 . 4 स्कोर किया । इससे एक घंटे पहले ही वह क्वालीफिकेशन दौर में शानदार प्रदर्शन करके शीर्ष रहे थे । फाइनल में उनकी शुरूआत खराब रही और पहले पांच शॉट के बाद 47 . 7 का स्कोर करके वह आठवें नंबर पर खिसक गए ।

    वहीं 12वें शॉट के बाद वह छठे स्थान पर थे । पहले एलिमिनेशन दौर में वह बच गए लेकिन बाद में लय कायम नहीं रख सके । ईरान के जावेद फोरोगी ने 244.8 के ओलंपिक रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण , सर्बिया के दामिर मिकेच ने रजत और चीन के वेइ पेंग ने कांस्य पदक जीता । भारत की सबसे बड़ी पदक उम्मीद माने जा रहे निशानेबाजों की शुरूआत खराब रही । इससे पहले महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल में अपूर्वी चंदेला और इलावेनिल वालारिवन फाइनल्स में भी जगह नहीं बना सकी ।

    पुरूषों के दस मीटर एयर पिस्टल में भारत के अभिषेक वर्मा अच्छे प्रयासों के बावजूद फाइनल में प्रवेश से चूक गए और 17वें स्थान पर रहे । आखिरी सीरिज में दो बार आठ स्कोर करने का उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ा । वहीं पिछले तीन साल में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आठ स्वर्ण जीत चुके चौधरी ने क्वालीफिकेशन में जबर्दस्त प्रदर्शन करके छह सीरिज में 586 स्कोर किया । पहली बार ओलंपिक खेल रहे चौधरी ने चौथी सीरिज में परफेक्ट 100 स्कोर किया । इसके बाद लगातार 98 का स्कोर करके आठ निशानेबाजों में पहला स्थान पाया ।

    एशियाई खेलों और युवा ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता चौधरी ने परफेक्ट 10 स्कोर किया लेकिन पहली सीरिज के दूसरे हिस्से में लय कायम नहीं रख सके । फिर 19वें स्थान से शीर्ष आठ में पहुंचे और परफेक्ट 100 स्कोर किया । बेहद अनुभवी विश्व और ओलंपिक चैम्पियनों के बीच वह बाजी मारने में कामयाब रहे । कोरियाई दिग्गज और चार बार के चैम्पियन जिन जिन जोंगोह भी फाइनल में जगह नहीं बना सके ।