amit-panghal

    टोक्यो. एक बड़ी खबर के अनुसार बॉक्सिंग (Boxing) में भी अब भारत को एक और बड़ा झटका लगा है। जी हाँ भारतीय बॉक्सर सतीश कुमार (Satish Kumar) टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics 2020) के 91 किग्रा भार वर्ग क्वार्टर फाइनल मुकाबला हार गए हैं। वह उजबेकिस्तान के बखोदिर जालोलोव के हाथों 0-5 से पराजय हुआ हैं। अभी प्रापर संचारों की मानें तो भारतीय मुक्केबाज सतीश कुमार सुपर हैवीवेट (91 किग्रा से अधिक) वर्ग के क्वार्टर फाइनल में उजबेकिस्तान के बखोदिर जालोलोव से हारे हैं। 

    आज भारत के चोटिल भारतीय मुक्केबाज सतीश कुमार (प्लस 91) विश्व चैम्पियन बखोदिर जालोलोव के खिलाफ अच्छे प्रदर्शन के बावजूद क्वार्टर में हारकर बाहर हो गए । प्री क्वार्टर फाइनल में लगी चोटों के कारण माथे और ठोड़ी पर कई टांके लगवाकर उतरे सतीश 0 . 5 से हारे। उन्हें जमैका के रिकार्डो ब्राउन के खिलाफ प्री क्वार्टर फाइनल में दो कट लगे थे ।

    सेना के 32 वर्षीय मुक्केबाज ने अपने दाहिने हाथ से पंच भी जड़े लेकिन जालोलोव पूरे मुकाबले में हावी रहे ।तीसरे दौर में सतीश के माथे पर लगा घाव खुल गया लेकिन इसके बावजूद वह लड़ते रहे । फुटबॉलर से मुक्केबाज बने जालोलोव ने अपना पहला ओलंपिक पदक सुनिश्चित करने के बाद सतीश की बहादुरी की तारीफ की। सतीश सुपर हैवीवेट में क्वालीफाई करने वाले भारत के पहले मुक्केबाज थे । वहीं जालोलोव तीन बार के एशियाई चैम्पियन भी हैं । इसके साथ ही पुरूष मुक्केबाजी में भारतीय चुनौती समाप्त हो गई । लवलीना बोरगोहेन (69 किलो) महिला वर्ग में सेमीफाइनल खेलेंगी जिन्होंने तोक्यो ओलंपिक में मुक्केबाजी में भारत का पहला और एकमात्र पदक सुनिश्चित किया है । 

    गौरतलब है कि आज टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics 2020) का 10वां दिन है। आज यानी 1 अगस्त को भारत के खाते में एक कांस्य पदक भी जुड़ सकता है। जी हाँ आज देश ही होनहार शटलर पीवी सिंधु ब्रॉन्ज मेडल मैच में उतरेंगी। आज हमारी स्टार शटलर पीवी सिंधु, शनिवार को फाइनल की रेस से तो बाहर हो गई हैं। लेकिन अब उनके पास ब्रॉन्ज जीतने का आखिरी मौका है। इसी के साथ आज पुरुष हॉकी टीम भी सेमीफाइनल में अपना स्थान पक्का करने उतरेगी।

    लेकिन इन सबके बीच अब से कुछ ही देर पहले इन महत्वपूर्ण मुकाबलों से पहले आज भारत को बॉक्सिंग में झटका लगा है। आज सतीश कुमार क्वार्टर फाइनल मुकाबला हारकर मेडल की रेस से बाहर हो गए हैं। अब सबकी नजर आज पीवी सिंधु और पुरुष हॉकी टीम पर मैडल की आस के लिए जमी रहेगी।