Mirabai Chanu
File Pic

    नयी दिल्ली. एक बड़ी खबर के अनुसार टोक्यो ओलंपिक -2020 (Tokyo Olympics 2020) में भारत (India) के खाते में जल्द ही पहला गोल्ड (Gold0 आ सकता है। जी हाँ अब वेटलिफ्टिंग (49 किग्रा वर्ग) में रजत पदक हासिल करने वालीं मीराबाई चानू का मेडल जल्द ही गोल्ड में बदल सकता है। दरअसल, गोल्ड जीतने वाली चीनी एथलीट होउ जिहूई पर डोपिंग का शक है।

    दरअसल सूत्रों की मानें तो और निजी मीडिया चैनल आज तक की एक खबर के मुताबिक टोक्यो में भारतीय समूह में एक संदेश है कि होउ जिहूई का परीक्षण किया जा रहा है और यह देखना होगा किया आगे क्या होता है। इस बारे में भारतीय प्रतिनिधिमंडल के सदस्य ज्यादा फिलहाल कुछ भी नहीं कह रहे हैं।

    खबर ये भी है कि होउ जिहूई आज अपने देश वापस लौटने वाली थीं, लेकिन आज उन्हें रुकने को कहा गया है। पता हो कि ओलंपिक के इतिहास में ऐसा पहले हो चुका है जब डोपिंग में फेल होने पर किसी खिलाड़ी का मेडल छीन लिया गया हो।

    पता हो कि भारतीय भारोत्तोलक मीराबाई चानू (Meerabai Chanu) ने तोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics 2020) की 49 किग्रा स्पर्धा में रजत पदक (Silver Medal) जीता है। इतिहास बनाते हुए मीराबाई ने 49 किलोग्राम वर्ग में सिल्वर मेडल अपने नाम किया है। वगौरतलब है कि वेटलिफ्टिंग में ये दूसरी बार है जब भारत ने ओलंपिक में कोई मेडल जीता है।