MS Dhoni bid farewell to cricket
File Photo

    -विनय कुमार

    ‘आईसीसी T20 वर्ल्ड कप, 2021’ के लिए बीते बुधवार, यानी कल भारतीय टीम की घोषणा की गई, जिसमें क्रिकेट की दुनिया के ‘कैप्टेन कूल’ और T20 cricket के इतिहास के पहले World Cup जीतने वाले कप्तान महेंद्र सिंह धोनी  (MS Dhoni) को टीम इंडिया का मेंटॉर नियुक्त किया गया। टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने भारत के ‘T20 वर्ल्ड कप टीम’ के लिए मेंटॉर के तौर पर एमएस धोनी की नियुक्ति का स्वागत किया और कहा कि विश्व कप विजेता भारत के पूर्व कप्तान का अनुभव इस वर्ल्ड कप में भारत के बहुत काम आएगा, जिस 15 सदस्यीय टीम में कई युवा खिलाड़ी हैं।

    धोनी से शांत प्रभाव पड़ेगा

    गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने ‘Star Sports’ से अपनी खास बातचीत में कहा कि, भारत स्किल के साथ मदद करने के लिए ही नहीं, बल्कि ऐसे बड़े महत्वपूर्ण मैचों में दबाव से निपटने के लिए एमएस धोनी (MS Dhoni) को मेंटॉर (Mentor T20 World Cup Team) के तौर पर लेना चाहता था, जिसके लिए ‘चेन्नई सुपर किंग्स’ (Chennai Super Kings CSK Captain MS DHONI) के कप्तान को जाना जाता है। गौतम गंभीर ने कहा कि भारत हाल के दिनों में ICC की प्रमुख खिताबों के लिए खेलों में अंतिम बाधाओं को पार नहीं कर पाया है। और धोनी के ड्रेसिंग रूम में टीम के साथ होने से उनके शांत दिमाग से रणनीति तय करने में बेहतरीन प्रभाव पड़ेगा।

    ‘इसलिए’ धोनी को चुना गया मेंटॉर

    BCCI सेक्रेटरी जय शाह (Jay Shah Secretary BCCI) ने बीते बुधवार कहा कि धोनी नेशनल सीनियर टीम में योगदान देना चाहते हैं। फिलहाल उन्हें सिर्फ़ ‘T20 वर्ल्ड कप’ के लिए मेंटॉर (Mentor MS Dhoni) के तौर पर नियुक्त किया गया है। गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने कहा, ”यह एक अच्छी कहानी है। यह एक बहुत ही अच्छी पहल है। मुझे विश्वास है कि टीम में उनके रोल को डिफाइन किया जाएगा, क्योंकि आपको मुख्य कोच मिला है, आपको बोलिंग कोच और अन्य सपोर्ट स्टाफ मिले हैं।

    मुझे यकीन है कि विराट कोहली (Virat Kohli Captain) और रवि शास्त्री (Ravi Shastri Coach Team India) तो हैं उनके पास, लेकिन टीम मैनेजमेंट बेहतरी के लिए उनसे अलग भी कुछ चाहता था। भारत T20 क्रिकेट में एक बहुत ही कामयाब रहा है। अगर भारत T20 क्रिकेट में स्ट्रगल करता, तो उन्हें बाहर से और किसी को नियुक्त करना पड़ता। लेकिन एमएस धोनी ,(MS Dhoni) का अनुभव, उन संकटपूर्ण मैचों में दबाव से निपटने की उनकी मानसिकता, शायद यही वजह है कि उन्होंने टीम इंडिया के मेंटॉर के तौर पर लिया गया है। स्किल के नजरिए से नहीं, क्योंकि तुमने खिलाड़ियों में स्किल भरा हुआ है।” 

    युवा खिलाड़ियों के साथ शेयर करेंगे  अपना अनुभव

    भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व धाकड़ सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ,(Gautam Gambhir) ने कहा, “धोनी का होना शायद उन महत्वपूर्ण मैचों में दबाव को संभालने में टीम (Team India) को मदद करने के लिए है, जहां वह नॉकआउट मैच (Knockout Match) जीतने से चूक जाते हैं। शायद, टीम की कप्तानी करने का उनका (Mahendra Singh Dhoni) अनुभव, उन महत्वपूर्ण मैचों में दबाव को संभालने को लेकर टीम के मौजूदा युवा खिलाड़ियों के लिए बड़ा फायदेमंद हो सकता है।

    आपको ध्यान रखना होगा कि इनमें (T20 World Cup Team India, 2021) में ज्यादातर युवा खिलाड़ी हैं। राहुल चाहर (Rahul Chahar), वरुण चक्रवर्ती (Varun Chakravarty) और कुछ बल्लेबाजों ने कोई भी वर्ल्ड कप मैच नहीं खेला है। मुझे यकीन है कि एमएस धोनी (MS Dhoni Mentor) अपना अनुभव उनके साथ शेयर करेंगे।”

    गौरतलब है कि भारत ने बीते बुधवार, यानी कल ही ‘ICC T20 WORLD CUP, 2021’ के लिए 15 सदस्यीय टीम की घोषणा की। जिसमें, रविचंद्रन अश्विन (Ravichanran Ashwin) और अक्षर पटेल (Axar Patel) को जगह मिली। जबकि शिखर धवन (Shikhar Dhawan), युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) और क्रुणाल पांड्या (Krunal Pandya) को मौका नहीं मिला।