photo credit google
photo credit google

    मध्य प्रदेश, एमपी (MP) के मंडला जिले में पुलिस ने चार शिकारियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने तस्करों के पास से बाघ की एक खाल एवं नाखूनों सहित उसके पंजे और जंगली सूअर के दांत बरामद किएं हैं। नैनपुर अनुविभागीय अधिकारी पुलिस (SDOP) आकांक्षा चतुर्वेदी ने रविवार को बताया कि, शनिवार तड़के मुखबिर से पता चला कि वन्य प्राणियों के अंगों की तस्करी के लिए सरही बिछिया की ओर से कुछ शिकारी बाघ एवं अन्य जंगली जानवरों का शिकार करने के बाद बाघ की खाल, उसके नाखून तथा जंगली सूअर के दांत सहित अन्य अहम अंग लेकर अवैध रूप से तस्करी कर मोटरसाइकिल से मंडला की ओर आ रहे हैं।

    अधिकारी चतुर्वेदी ने बताया कि, सूचना पर कार्रवाई करते हुए अंजनिया पुलिस चौकी प्रभारी उप निरीक्षक जसवंत सिंह राजपूत ने पुलिस टीम के साथ घाटी अंजनिया हनुमान मंदिर के सामने राजमार्ग पर संदिग्ध मोटरसाइकिल चालकों की तलाशी के लिए अभियान शुरू किया और दो मोटरसाइकिलों पर चार व्यक्तियों को बिछिया की तरफ से आते देखा। आरोपी पुलिस को देखकर भागने का प्रयास करने लगे। पुलिस ने घेराबंदी कर उन्हें पकड़ा और मोटरसाइकिल पर लटके उनके थैलों की तलाशी लेने पर बाघ की एक खाल, उसके नाखून सहित पैरों के पंजे, जंगली सूअर के चार बड़े नुकीले दांत तथा इन जानवरों का शिकार करने के लिए उपयोग में लाया गया जीआई तार एवं कुल्हाड़ी बरामद की है।

    जानकारी के अनुसार गिरफ्तार किये गये आरोपियों में माखन लाल यादव 40, आनंद कुशराम 30, मनोज कुमार पंदराम 32 एवं इतवारी पोशाम 27 शामिल हैं। इन सभी के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान बताया कि करीब तीन-चार माह पहले उन्होंने जीआई तार से भलवानी के जंगल में फंदा लगाकर बाघ का शिकार किया था और उक्त अंगों को बेचने के लिए कुल्हाड़ी से काटकर उन्हें उसके शरीर से निकाला था। इसी प्रकार जंगली सुअर का शिकार कर उसके नुकीले दांत निकाल लिए थे और इन्हें ऊंचे दामों में बेचने के लिए ले जा रहे थे।(एजेंसी)