छत्तीसगढ़: पूर्व डीजीपी अवस्थी होंगे आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के प्रमुख

    रायपुर: छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य के पूर्व पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) डीएम अवस्थी को राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) का महानिदेशक नियुक्त किया है। इसी के साथ भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के कुल सात वरिष्ठ अधिकारियों को इधर से उधर किया गया है।

    अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि 1986 बैच के आईपीएस अधिकारी अवस्थी नेताजी सुभाष चंद्र बोस राज्य पुलिस अकादमी में महानिदेशक के पद पर पदस्थ थे। वर्ष 2018 में कांग्रेस के नेतृत्व में सरकार के गठन के बाद अवस्थी की नियुक्ति डीजीपी के रूप में की गई थी, लेकिन पिछले वर्ष नवंबर में राज्य सरकार ने 1989 बैच के आईपीएस अधिकारी अशोक जुनेजा को डीजीपी नियुक्त कर अवस्थी का तबादला राज्य पुलिस अकादमी में कर दिया था।

    अधिकारियों ने बताया कि इसके अलावा राज्य शासन ने गुप्तवार्ता के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) डॉ आनंद छाबड़ा का तबादला आईजी दुर्ग के पद पर किया है। छाबड़ा के स्थान पर अजय कुमार यादव गुप्तवार्ता के आईजी होंगे। साथ में वह सिर्फ रायपुर जिले के भी आईजी होंगे। इससे पहले वह सरगुजा क्षेत्र के आईजी थे। अधिकारियों ने बताया कि सरकार ने राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो और एसीबी के पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) शेख आरिफ हुसैन का तबादला रायपुर क्षेत्र के अन्य जिले महासमुंद, धमतरी, गरियाबंद और बलौदाबाजार-भाटापारा के प्रभारी पुलिस महानिरीक्षक के पद पर किया है।

    वहीं राजनांदगांव क्षेत्र के डीआईजी राम गोपाल वर्मा का तबादला सरगुजा क्षेत्र के प्रभारी पुलिस महानिरीक्षक पद पर किया गया है। उन्होंने बताया कि बिलासपुर क्षेत्र के आईजी रतन लाल डांगी को सुभाष चंद्र बोस राज्य पुलिस अकादमी का निदेशक नियुक्त किया गया है। वहीं बद्री नारायण मीणा को बिलासपुर क्षेत्र का आईजी नियुक्त किया गया है जो इससे पहले दुर्ग क्षेत्र के आईजी थे। (एजेंसी)