chhattisgarh-government-employees-on-strike-from-july-25-to-29-from-tomorrow-chhattisgarh-empolyees-demanding-dearness-allowance-similar-to-central-government

    नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में आज से लोगों की दिक्कतें बढ़ने वाली हैं। राज्य में आज से 7 दिन तक लोगों का कोई भी सरकारी (Government Office) काम नहीं होगा। दरअसल, प्रदेश के सभी कर्मचारी संगठनों ने एक साथ होकर हड़ताल का ऐलान किया है। जिसके चलते अगले 7 दिनों तक सभी सरकारी ऑफिस बंद रहने वाले हैं।

    कर्मचारियों 25 से 29 जुलाई तक हड़ताल पर रहने वाले है। इसके बाद 30 जुलाई को शनिवार और 31 को रविवार का अवकाश है। बता दें कि, छत्तीसगढ़ के शिक्षक पहले से ही हड़ताल पर हैं। इस वजह से स्कूलों में भी बच्चों को 5 दिन मिड-डे-मील नहीं मिलेगा।

    मिली हुई जानकारी के मुताबिक, छत्तीसगढ़ के सरकारी कर्मचारी केंद्रीय कर्मचारियों के समान DA (महंगाई भत्ते) और HRA (मकान किराया भत्ता) की मांग कर रहे हैं। केंद्र सरकार के कर्मचारियों को 34 प्रतिशत महंगाई भत्ता दिया जाता है। वहीं, राज्य के कर्मचारियों को महज 22 फीसदी ही मिलता है। इस वजह से कर्मचारी फेडरेशन ने हड़ताल करने का फैसला किया है। इसमें अन्य कर्मचारी संगठन, शिक्षक संघ और पटवारी संघ भी शामिल हो गए हैं। सरकारी कर्मचारियों की हड़ताल के कारण बहुत सारी सेवाएं बाधित हो सकती है।

    बता दें कि, अभी विधानसभा का मानसून सत्र चल रहा है। ऐसे में इस हड़ताल का असर विधानसभा की कार्यवाही पर भी पड़ेगा। इस दौरान ऐसे कई सवाल और सूचनाएं मांगी जाती हैं, जो तत्काल लगाई जाती हैं। सदन में पूछे गए सवालों का जवाब  संबंधित विभाग के अधिकारी को देना होता है। लेकिन जानकारी जुटाने का पूरा काम तो कर्मचारियों का होता है।