Baghel, Rahul and TS Singhdeo

    नई दिल्ली. छत्तीसगढ़ कांग्रेस में घमासान जारी है। मुख्यतमंत्री पद के लिए राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) और टीएस सिंह देव (TS Singh Deo) में लड़ाई शुरू हुई। बघेल खेमे के कई विधायक दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। इसी बीच पार्टी के विधायक राम कुमार यादव ने शनिवार को दावा किया कि राज्य के सभी नेता एकजुट हैं। साथ ही उन्होंने विश्वास जताया कि भूपेश बघेल सरकार सफलतापूर्वक पांच साल पूरे करेगी।

    संवाददाताओं से बात करते हुए यादव ने कहा, “छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल और टीएस सिंह देव सहित सभी 70 कांग्रेस विधायक एकजुट हैं। हमारी सरकार अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी।” 

    उन्होंने कहा, “सीएम प्रदेश की जनता के लिए काम कर रहे हैं, जिसमें टीएस सिंह देव भी योगदान दे रहे हैं।” 

    35 से ज्यादा विधायक मौजूद

    दिल्ली गए छत्त्तीसगढ़ विधायकों मे से एक विधायक बृहस्पति सिंह ने कहा, “कांग्रेस के लगभग 35 विधायक आज शाम तक (दिल्ली में) मौजूद रहेंगे और कल और आएंगे। हम अपने राज्य प्रभारी (पीएल पुनिया) और पार्टी आलाकमान से मिलेंगे। राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की कोई बातचीत नहीं है।” 

    बघेल को बड़ी जिम्मेदारी

    उधर कांग्रेस आलाकमान ने भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) को बड़ी जिम्मेदारी दी है। सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने बघेल को उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ पर्यवेक्षक के रूप में नियुक्त किया है।

    बघेल ने आभार व्यक्त किया

    वरिष्ठ पर्यवेक्षक के रूप में नियुक्त को लेकर बघेल ने कहा, “पार्टी ने विश्वास व्यक्त किया उसके लिए धन्यवाद। एक बड़ी ज़िम्मेदारी दी है, मैं सोनिया, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के प्रति आभार व्यक्त करता हूं।”

    गौरतलब है कि टीएस सिंहदेव और भूपेश बघेल के बीच मुख्यमंत्री पद के लिए पिछले कई दिनों से विवाद चल रहा है। जिसको लेकर बीते दिनों में दोनों नेताओं ने कई बार दिल्ली पहुंचकर केंद्रीय नेतृत्व से मुलाकात की है।