Naxalite attack
File Photo

Loading

बस्तर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बस्तर (Bastar) के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों (Naxal affected areas) में स्थानीय लोग अपने क्षेत्र में पहली बार अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। बताया जा रहा है कि यहां जल्द ही मतदान केंद्र बनाए जाएंगे। न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने आज एक एक्स पोस्ट में इसकी जानकारी दी।

खबरों के मुताबिक, बस्तर क्षेत्र के करीब 40 नक्सल प्रभावित इलाकों को अपने ही क्षेत्र में वोट डालने का मौका मिलेगा।

एक स्थानीय लक्ष्मण नाग ने कहा, “पहले लोगों को वोट डालने के लिए 8 किमी दूर जाना पड़ता था। उनमें से ज्यादातर वोट देने नहीं आते थे क्योंकि स्थिति अच्छी नहीं थी। यह नक्सल प्रभावित क्षेत्र था। अब स्थिति बदल गई है।”

वहीं, एक अन्य स्थानीय ने कहा, “चांदामेटा क्षेत्र में करीब 70 घर हैं। तीन-चार चुनावों में उन्होंने वोट नहीं डाला क्योंकि नक्सली उन्हें ऐसा करने से रोकते थे। इस बार मतदाता निर्भय होंगे। चांदामेटा में कभी मतदान केंद्र नहीं था। इस बार ये सामने आएगा। बुजुर्ग भी वोट डालने आएंगे। वहां करीब 300 मतदाता हैं और वे करीब 15 साल से वोट नहीं डाल पाए हैं।”