arrest
File Photo

    गरियाबंद: छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में वन विभाग ने भालू का शिकार करने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। व​न विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। गरियाबंद के वन मंडल अधिकारी मयंक अग्रवाल ने सोमवार को बताया कि जिले के आमदी गांव के जंगल में दो साल के नर भालू का शिकार करने के आरोप में विभाग ने तीन लोगों चैतराम (50), मोहन चक्रधारी (50) और प्यारेलाल ध्रुव (50) को गिरफ्तार किया है।

    अग्रवाल ने बताया कि रविवार सुबह वन विभाग को आमदी गांव के पास भालू का शव होने की सूचना मिलने पर तत्काल विभाग की टीम वहां पहुंची। उन्होंने बताया कि वन विभाग के दल ने भालू का शव बरामद कर उसका पोस्टमार्टम कराया है। चिकित्सकों ने बताया कि भालू बीमार था और उसके सिर पर भारी वस्तु से वार कर उसकी हत्या की गई थी।

    चिकित्सकों ने भालू के शव से नाखून, दांत और अन्य अंगों के काटे जाने जानकारी दी है। अधिकारी ने बताया कि वन विभाग ने खोजी कुत्ते की मदद से जांच शुरू कर दी है और संदेह के आधार पर तीन लोगों से पूछताछ की गई है और उनके घरों की तलाशी ली गई है। तीनों आरोपी आमदी गांव के रहने वाले हैं। उन्होंने बताया कि आरोपियों के मकानों से भालू के दांत, नाखून, हिरण की खाल, सिंग, कुल्हाड़ी और अन्य हथियार बरामद हुए हैं।

    अग्रवाल ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है। गौरतलब है कि गरियाबंद जिले के उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व में वन विभाग ने पिछले सप्ताह एक नर तेंदुआ का शव बरामद किया था। तेंदुए के भी शरीर से कई अंग लापता थे। (एजेंसी)