Coal Crisis
Pic: Twitter

    कोरबा: छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में एक कोयला खदान से बड़ी मात्रा में कोयले की कथित चोरी का एक वीडियो वायरल होने के बाद बिलासपुर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक ने मामले की जांच का आदेश दिया है। पुलिस अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।

    अधिकारियों ने बताया कि कोयला खदान से सैकड़ों लोगों द्वारा कोयला चोरी किए जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद बिलासपुर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक रतन लाल डांगी ने मामले की जांच का आदेश दिया है। उन्होंने बताया कि आदेश में कहा गया है कि एसईसीएल (साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड) की खदानों से कोयला चोरी करते लोगों के वीडियो की जांच के लिए अपराध रोधी और साइबर इकाई के प्रभारी को जांच अधिकारी नियुक्त किया जाए।

    यह वीडियो कोरबा जिले में स्थित एसईसीएल की गेवरा/दीपका खदान का बताया जा रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि कोयला खदान में महिलाओं समेत सैकड़ों लोग कोयले की खुदाई कर रहे हैं और उसे बोरे में भरकर सिर पर लादकर ले जा रहे हैं। वीडियो में खदान क्षेत्र में ट्रक और जेसीबी को भी देखा जा सकता है। वीडियो में कोयला ले जाते लोगों को रोकने के लिए कोई भी मौजूद नहीं है।

    पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस वीडियो के सामने आने के बाद कोरबा जिले के पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल ने दीपका थाना प्रभारी अविनाश सिंह और हरदीबाजार चौकी प्रभारी अभय सिंह बैस को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया है।

    इस संबंध में एसईसीएल के जनसंपर्क अधिकारी सनिष चंद्रा ने कहा, ‘‘पुलिस वीडियो की प्रमाणिकता की जांच कर रही है, इसलिए इस संबंध कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। हालांकि खदान क्षेत्र में किसी भी तरह की चोरी के संबंध में पता चलने पर एसईसीएल द्वारा पुलिस को इसकी जानकारी दी जाती है तथा प्राथमिकी भी दर्ज कराई जाती है।” (एजेंसी)