politics
Bhupendra Baghel, ANI

    छतीसगढ़: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुख्यमंत्री भूपेंद्र बघेल (Bhupendra Baghel) के हाथों पर एक के बाद एक पांच सोंटे लगाए गए। यहां की ऐसी मान्यता है कि इससे खुशहाली आती है दिवाली के मौके पर उन्होंने गौरा-गौरी पूजन (Gaura-Gauri Pujan) में हिस्सा लिया। गांव के एक व्यक्ति ने सीएम के हाथों पर सोंटा (पुआल से बना हंटर) से वार किया। यह पूजा इसी प्रथा से हर साल मनाई जाती है। यह एक तरह की रस्म है। 

    सोंटा मारने की परंपरा छत्तीसगढ़ के हर गांव और शहरी इलाके के मुहल्ले में गौरा-गौरी पूजा के दौरान की जाती है। थोड़ा दर्द सहकर ईश्वर के प्रति अपनी भक्ति को प्रकट किया जाता है। लोगों कहना है कि इस परंपरा से देवता अनिष्ट की आशंका टल जाती है। मुख्यमंत्री यहां आते हैं तो बहुत अच्छा लगता है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर गौरा-गौरी पूजा में भी हिस्सा लिया।

    गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में दीपावली के मौके पर गौरी-गौरा (शंकर और पार्वती) के पूजन का विशेष महत्व है। दिवाली की रात गौरी-गौरा की प्रतिमा स्थापित करके पूजा करने की परंपरा यहां के स्थानीय लोगों के बीच प्रचलित है। अब गाजे-बाजे के साथ प्रतिमाओं को विसर्जन के लिए ले जाया जाता है। इस दौरान लोग नाचते गाते हैं। खुद को सोंटा मरवाते हैं। सीएम भूपेंद्र बघेल इसी मौके पर हिस्सा लेने पहुंचे थे।