राम बीजेपी के लिए केवल पुरुष, कांग्रेस के लिए भगवान

  • 'नवभारत' के 'रामराज्य का संकल्प' की छत्तीसगढ़ के सीएम बघेल ने की सराहना

रायपुर. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chhattisgarh CM Bhupesh Baghel) का कहना है कि भगवान राम (Lord Ram) को बीजेपी (BJP) पुरुष मानती है, जबिक कांग्रेस (Congress) हमेशा से उनको भगवान मानती है। गांधीजी के जो भी सिद्धांत हैं, अहिंसा और सत्य, वे सब भारत की महान परंपरा से आए हैं। हम उन्हीं सिद्धांतों में विश्वास करने वाले लोग हैं। भगवान महावीर (Lord Mahavir) का अनेकांतवाद ही तो गांधी के सिद्धांतों में है। रामकृष्ण परमहंस के सिद्धांतों को महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) भी मानते थे। कांग्रेस हमेशा से ही इसी विचारधारा को लेकर आगे बढ़ी है। जहां सर्वव्यापी-सर्वसमावेशक समाज का निर्माण करना है।

‘नवभारत’ के वार्षिकांक ‘रामराज्य का संकल्प’ के अवलोकन के बाद बघेल ने कहा कि एक तरफ वे अल्पसंख्यकों को निशाना बनाते हैं, जबकि अखंड भारत का जो नक्शा अपने कार्यालय में लगाते हैं, उसके क्या मायने हैं। ‘रामराज्य का संकल्प’ में ‘छत्तीसगढ़ में सांस्कृतिक चेतना के विकास’ की बात की गई है। यह भी बताया गया है कि गोबर संग्रहण की योजना ने किस तरह से गरीबों की मदद की है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार शाम अपने निवास कार्यालय में नवभारत महाराष्ट्र ग्रुप के वर्ष 2022 के वार्षिकांक-रामराज्य का संकल्प का विमोचन किया। वार्षिकांक में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का- छत्तीसगढ़ में राम राज्य सांस्कृतिक चेतना बनी ताकत शीर्षक के आलेख का भी प्रकाशित हुआ है। इस अवसर पर  नवभारत महाराष्ट्र ग्रुप के ग्रुप एडिटर श्री संजय तिवारी, श्री जयप्रकाश पराशर, श्री महेश सारंगी, श्री अरविंदर सिंह भामरा सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

राहुल की चुनौती को अनदेखा किया

बघेल ने इस बात पर भी चिंता जाहिर की है कि कोविड नियमों व प्रतिबंध के जरिए यूपी चुनाव में भाजपा दूसरे दलों पर बढ़त हासिल करने की कोशिश कर सकती है। बघेल ने कोविड से निपटने के सरकार के तौर तरीकों पर भी सवाल खड़ा किया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुरू में ही चेतावनी दे दी थी, लेकिन सरकार ने ध्यान नहीं दिया। अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्स पर रोक लगानी चाहिए थी और विदेश से आने वालों को सख्ती से क्वारंटाइन करना चाहिए था। सरकार ताली और थाली करती रही और कोरोना तेजी से फैला। टीकाकरण के बारे में भी राहुल गांधी ने चेताया था कि हर नागरिक को टीका लगाओ, लेकिन सरकार वैक्सीन का निर्यात करने में लगी थी। पहले तो राज्यों को कुछ नहीं करने दिया। बाद में सब कुछ राज्यों पर छोड़ दिया। जब दूसरी लहर में हालात बेकाबू हो गए, तो उन्होंने पल्ला झाड़ लिया।

पंजाब में प्रधानमंत्री की सुरक्षा नियमों के उल्लंघन पर बघेल का कहना है कि दिल्ली के ट्रैफिक में जब पीएम फंसे तो उसे उनके साधारण आदमी होने की तरह पेश कर रहे थे। यूपी में फंसे तो कह रहे थे कि प्रधानमंत्री कितने विनम्र हैं। क्या उन्होंने दिल्ली और यूपी में कहा था कि धन्यवाद, मैं सुरक्षित आ गया। सचाई यही है कि सभा स्थल खाली था। उन्हें एक बहाना चाहिए था। पीएम की सुरक्षा महत्वपूर्ण है, लेकिन उनको भी अपनी गरिमा का ध्यान रखना चाहिए। पंजाब में भाजपा को लग रहा है कि कैप्टन के कंधों पर सवारी करके राजनीति कर सकते हैं। ऐसा हो नहीं सकता। पंजाब में बीजेपी है कहां। बाकी राज्यों में चौंकाने वाले परिणाम आएंगे।