ELEPHANT
File Photo

    रायपुर: छत्तीसगढ़ के तीन जिलों में अलग अलग घटनाओं में जंगली हाथियों के हमलों में तीन लागों की मौत हो गयी है। वन विभाग के अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी ।     

    वन विभाग के अधिकारियों ने शुक्रवार को भाषा को बताया कि राज्य के महासमुंद, जशपुर और बालोद जिले में जंगली हाथियों के हमले में तीन लोगों की मौत हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि महासमुंद वन परिक्षेत्र के जंगल में हाथी के साथ सेल्फी ले रहे एक व्यक्ति अजय तिवारी (48) को हाथी ने कुचलकर मार डाला है।   

    उन्होंने बताया कि महासमुंद शहर निवासी अजय जिले के खट्टी गांव के उप स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ था। बृहस्पतिवार को जब वह टीकाकरण कार्यक्रम के बाद कोना गांव के जंगल में हाथी के साथ सेल्फी ले रहा था तब वहां एक जंगली हाथी पहुंच गया और उसे कुचल कर मार डाला। अधिकारियों ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद घटनास्थल के लिए वन विभाग के दल को रवाना किया गया तथा शव बरामद किया गया। 

         

    अधिकारियों ने बताया कि बृहस्पतिवार रात तपकरा परिक्षेत्र के अंतर्गत जुनवाईन गांव निवासी वीरेंद्र (35) अपने मामा के गांव खारी बहार से गांव वापस लौट रहा था। जब वह जंगल के रास्ते में था तभी हाथी ने उस पर हमला कर दिया। इस घटना में वीरेंद्र की मौके पर ही मौत हो गई।     

    उन्होंने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद घटनास्थल के लिए वन विभाग के दल को रवाना किया गया।   अधिकारियों ने बताया कि एक अन्य घटना में बालोद के जिले के अंतर्गत दल्लीराजहरा वन परिक्षेत्र में बुधवार शाम अड़जाल गांव के करीब हाथी के हमले में एक ग्रामीण संतोष भुआर्य (48) की मौत हो गयी ।   

    उन्होंने बताया कि क्षेत्र में हाथियों के दल ने जमही गांव के करीब सब्जी बाड़ी और खेतों मे धान के फसलों को भारी नुकसान पहुचाया है। अधिकारियों ने बताया कि मृतकों के परिजनों को 25—25 हजार रूपए की प्राथमिक सहायता राशि भी दी गयी है।